“श्रीराम’ पर कांग्रेस ने लगाया बड़ा दांव, ‘ताई सुमित्रा’ के खिलाफ लड़ेंगे चुनाव !

आगामी लोक सभा चुनाव के पहले सियासी माहौल गरमा गया है. सभी राजनीतिक पार्टियों ने अपनी कमर कस ली है. हाल में ही सपा-बासप गठबंधन के बाद यूपी में भाजपा के लिए एक बड़ी परेशानियो का दौर शुरू हो गया है. इस बीच कांग्रेस ने भी तीन राज्यों में जीत के बाद अब यूपी में आगमी लोक सभा में जीत हासिल करने के लिए अपनी बहन प्रियंका पर दांव लगाया है. इस बीच एक बड़ी खबर ने सियासत को गरमा दिया है. बताते चले कांग्रेस ने फिर एक बड़ा गेम प्लान किया.

बताते चले बिग बॉस 11 की विनर ‘अंगूरी भाभी’ के बाद अब एक्टर अरुण गोविल भी राजनीति में उतर सकते हैं. ऐसी ख़बरें हैं कि वो कांग्रेस का हाथ थामेंगे और आने वाले लोकसभा चुनाव में वो इंदौर से चुनावी मैदान में उतरेंगे. हालांकि, अब तक इस बारे में कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है.

मालूम हो कि अरुण गोविल रामानंद सागर की ‘रामायण’ में ‘राम’ का किरदार निभा चुके हैं. कहा जा रहा है कि कांग्रेस इंदौर में सुमित्रा महाजन के खिलाफ उन्हें उतारने की तैयारी में है.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की मानें तो मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबी सूत्रों ने बताया कि अरुण गोविल के नाम पर चर्चा चल रही है. उन्हें लोकसभा चुनाव में इंदौर सीट से लड़ाने पर विचार किया जा रहा है.

दरअसल, 15 साल बाद सत्ता में लौटे के बाद मध्य प्रदेश में कांग्रेस 20 से ज्यादा सीटे जीतने का लक्ष्य रखी हुई है. यही नहीं, कांग्रेस लोकसभा चुनाव में बीजेपी का गढ़ बन चुके भोपाल और इंदौर में सत्ता चाहती है. इसलिए दमदार प्रत्याशी उतारने की तैयारी कांग्रेस कर रही है.

इन चेहरों पर भी हो रही चर्चा…

बताया जा रहा है कि इंदौर के लिए अरुण गोविल के अलावा जीतू पटवारी, सत्यनारायण पटेल, पंकज सांगवी और अर्चना जायसवाल के नामों पर चर्चा हो रही है. इनमें से कुछ पहले भी लोकसभा चुनाव लड़ चुके हैं, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा है.

बीजेपी का गढ़ है मालवा…

मध्य प्रदेश का मालवा अंचल बीजेपी का गढ़ माना जाता है. हर विधानसभा से लेकर लोकसभा चुनाव में यहां बीजेपी को अच्छी बढ़त मिलती रही है. लेकिन हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में यह इलाका बीजेपी के हाथ से छूटता दिखाई दिया. यही वजह है कि हिन्दू कार्ड खेलकर कांग्रेस यहां अरुण गोविल को उतार सकती है.

Back to top button
E-Paper