बरेली : बहनो नें भाई की कलाई पर बांधी रेशम की डोर, जेल में बंद भाइयों की सूनी कलाई पर आई रौनक

भास्कर ब्यूरो

बरेली। भाई बहन के स्नेह प्यार का प्रतीक रक्षाबंधन बड़े हर्ष उल्लास के साथ मनाया गया। भाई की कलाई पर रेशम की डोर बांधी गईं।इस बार रक्षाबंधन पर दिनभर भद्रा होने के कारण बहनों को राखी बांधने लिए शुभ मुहूर्त का इंतजार करना पड़ा। भाइयों ने परंपरा अनुसार बहनों की रक्षा का संकल्प लिया और उपहार देकर खुशियां साझा की।शहर के तमाम मोहल्लों में पर्व को लेकर काफी उत्साह रहा।

मिठाई की दुकानों पर रही भीड़

रक्षा बंधन के अवसर पर सुबह से ही मिठाइयों की दुकानों पर लोगों की भीड़ रही। पर्व पर भाई का मुंह मीठा करवाने के लिए बहनों ने उनके पसंद की मिठाइयां खरीदी।इस बीच लोगों नें मोतीचूर का लड्डू, बेसन का लड्डू समेत चॉकलेट कों भी ख़ूब पसंद किया।

बसों में दिखी भारी भीड़

योगी आदित्यनाथ नें रक्षाबंधन को लेकर दो दिन के लिये महिलाओं कों बस में फ्री सेवा दी।जिसके बाद सेटेलाइट से लेकर पुराने रोडवेज बस स्टैंड पर महिलाओं की भीड़ उमड़ी। बसों के बढ़ाए जानें पर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म खाली नजर आए।
सैटलाइट बस स्टेशन पर एआरएम अरुण कुमार बाजपेई नें प्लेटफार्म पर खुद मॉनिटरिंग की।

जेल में भाइयों की कलाई पर बंधी राखी

गुरुवार को जेल में बंद भाइयों की कलाई पर उनकी बहनों ने राखी बांधी। सुबह से ही बहने केंद्रीय कारागार के द्वार पर पहुंच गई। इसके बाद उन्होंने जेल में बंद भाइयों की सुनी कलाई पर राखी बांधी। इस बीच मौजूद भाई बहनों की आंखें अश्कों से नम दिखी।

वर्जन
वही जेल अधीक्षक अन्नू सिंह मिश्रा के मुताबिक सुबह से ही जेल परिसर के बाहर बहनों की काफी लंबी भीड़ देखने को मिली। जिसमें 899 महिलाए 356 बच्चे और 5 पुरुष नें सामूहिक रूप से रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया।

Back to top button