सीतापुर : सतर्कता क्रे साथ दिन भर कांबिंग करते रहे डीएम-एसपी

सीतापुर। पैगंबर पर टिप्पणी को लेकर संभावित भारत बंद के आह्वान पर प्रशासन सतर्क हो उठा है। कानपुर हिंसा के बाद जुमे की नमाज को लेकर सीतापुर में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया। जिलाधिकारी अनुज सिंह व एसपी आरपी सिंह के निर्देश के बाद पुलिस प्रशासन सतर्क हो उठा है। सीतापुर के विभिन्न जगहों पर फोर्स तैनात कर दी गई है। सीतापुर के मोहल्ला कोट चैराहे, काजियारे व स्टेशन समेत विभिन्न स्थानों पर पुलिस प्रशासन अलर्ट कर दिया गया है।

आज पूरा दिन डीएम और एसपी जिले भर में काम्बिंग करते रहे। जुमे की नमाज के पहले और बाद में मस्जिदों के बाहर भारी सँख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया था। जुमे की नमाज समाप्त होने के बाद माहौल शांतिपूर्ण रहा। डीएम व एसपी ने कहा कि सभी लोग मिलजुल कर और शांतिपूर्ण ढंग से रहे। गंगा जमुनी तहजीब का परिचय दे।

कानपुर हिंसा के बाद जुमे की नमाज को लेकर सीतापुर में हाई अलर्ट

मछरेहटा संवाददाता के अनुसार थाना क्षेत्र में जुमे की नमाज के वक्त मछरेहटा पुलिस भी चाक चैबंद दिखी। थाना प्रभारी राम प्रकाश के निर्देशन में दिन के 10 बजे से ही कस्बे की सभी मस्जिदों पर पुलिस तैनात दिखी। हर चैराहों तथा बाजार में पुलिस हेलमेट बॉडी प्रोटेक्टर, बुलेटप्रूफ जैकेट व सशस्त्र पहरे पर खड़ी दिखाई दी व पूरे कस्बे में एक मोबाइल वैन भी निगरानी करती नजर आयी।

कस्बे की सभी आठो मस्जिदों पर नामज शांति से अता की गई। वहीं बिसवां संवाददाता के अनुसार आज डीएम व एसपी बिसवां पहुंचे। जहां उन्होंने कोतवाली में बैठ कर शांति व्यवस्था पर चर्चा की और कस्बा का भ्रमण भी किया। इस दौरान उप जिलाधिकारी पीएल मौर्या, क्षेत्राधिकारी पुलिस अभिषेक प्रताप, तहसीलदार अविचल प्रताप सिंह, नायब तहसीलदार विदेह सिंह, प्रभारी निरीक्षक कोतवाली मनीष कुमार सिंह सहित पीएसी बल भी था। लेखपालों की भी ड्यूटी मजिस्ट्रेट के तौर पर मस्जिदों के बाहर लगाई गई थी।

डीएम-एसपी ने जिलावासियों से मिलजुल कर रहने की अपील की

वहीं लहरपुर संवाददाता के अनुसार कस्बा सहित आस पास के ग्रामीण इलाकों में शान्ति के साथ जुमे की नमाज अदा की गई। इस दौरान कही से भी किसी तरह के प्रदर्शन की खबर नही है। भाजपा की पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा के विवादित बयान को लेकर शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद बड़े प्रदर्शन के कयास लगाये जा रहे थे। जिसमे से लहरपुर कस्बा काफी संवेदनशील माना जा रहा था।

पैगंबर पर टिप्पणी को लेकर भारत बंद के आह्वान पर प्रशासन सतर्क

लेकिन प्रशासन के प्रयासों के चलते सभी कयास निर्मूल साबित हुए और लहरपुर में जुमे की नमाज पूरी शान्ति के साथ अदा की गई। इस दौरान हर तरह के हालार से निपटने लिए प्रशासन पूरी तैयारी के साथ मुस्तैद रहा। लहरपुर की सभी प्रमुख मस्जिदों के आसपास अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती रही। वही एसडीएम अनुपम मिश्रा, सीओ सुशील कुमार सिंह व कोतवाल राजीव सिंह सहित तमाम आला अधिकारी फील्ड में रहे।

Back to top button