सीतापुर : प्याज व्यवसाई की उपचार के दौरान हुई मौत, सप्ताह पूर्व लूट की घटना के दौरान हुआ था घायल

 

1 सप्ताह पूर्व लूट की घटना के दौरान व्यवसाई हुआ था घायल

 लखनऊ के एक निजी चिकित्सालय में चल रहा था इलाज 

सीतापुर । बीती 20 जुलाई को सुबह 5:30 बजे सब्जी मंडी के थोक व्यवसाई मोइन खान की आज उपचार के दौरान लखनऊ में मौत हो गई   । वह लूट के दौरान गंभीर रूप से घायल हो गए थे। जिन्हें उपचार के लिए लखनऊ ले जाया गया था। जहां उनकी मौत हुई है। वही अभी तक पुलिस के हाथ लुटेरे नहीं चढ़ सके हैं जिससे व्यापारियों में रोष व्याप्त है ।

बताते चलें कि सब्जी मंडी के प्याज व्यवसाई मोइन खान सुबह 5:30 बजे 20 जुलाई को अपनी आढ़त पर गल्ला मंडी जा रहे थे जैसे ही वह गल्ला मंडी गेट के सामने निकले कि पीछे से आए बाइक सवारों ने उन पर हमला करते हुए उनके पास मौजूद सवा लाख की नकदी छीन ली और फरार होने लगे। व्यापारी ने शोर मचाया और फरार हो रहे लुटेरों का पीछा किया । डालडा मिल के पास रेलवे क्रासिंग के निकट स्पीड ब्रेकर ऊंचा होने के कारण वह नियंत्रण खो बैठे और स्कूटी से उछलकर डिवाइडर में जा लगे जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए। प्याज व्यवसाई को तत्काल उपचार हेतु सीतापुर जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां से उन्हें लखनऊ के लिए रेफर कर दिया गया । 7 दिनों तक चले इलाज के बाद आखिरकार प्याज व्यवसाय अपनी जिंदगी से हार गया और  काल के गाल में समा गया।

व्यापारियों में छाया शोक व आक्रोश

 प्याज व्यवसाई की मौत की खबर आते ही सीतापुर के व्यवसायियों में जहां शोक छा गया वहीं उनमें पुलिस की कार्यशैली को लेकर रोष भी व्याप्त हो गया । हालांकि इससे पूर्व व्यापारियों ने लुटेरों को पकड़े जाने को लेकर उसी दिन एसपी से मिलकर मांग की थी लेकिन 7 दिन बीत जाने के बाद भी कोतवाली पुलिस के हाथ खाली के खाली हैं जिससे व्यापारियों में जबरदस्त रोष व्याप्त है । उनका कहना है कि जिस तरह से पुलिसकर्मी वसूली में मस्त रहते हैं अगर उसी तरह से यह लोग अपना तरीके से काम करते तो आज यह घटना घटित नहीं होती।

Back to top button