जानें क्यों है इस कुत्ते पर है 50 लाख का इनाम, जिंदा या मुर्दा पकड़ने की अपील

नयी दिल्ली। कोलंबिया दुनियाभर में ड्रग तस्करी के लिए बदनाम है. यहां सालों से ड्रग तस्कर फलते-फूलते रहे हैं. लेकिन सोंब्रा नाम के एक कुत्ते ने कई तस्करों के अरमानों पर पानी फेर दिया.इस कुत्ते ने 2 साल में करीब 68 करोड़ रुपये का ड्रग पकड़वाने में मदद की. इसकी वजह से अब तस्करों ने कुत्ते के ऊपर 50 लाख रुपये का इनाम रख दिया है. तस्करों ने अपने समूह में ये संदेश भेजा है कि सोंब्रा को जिंदा या मुर्दा लाने वाले व्यक्ति को 50 हजार रुपये दिया जाएगा. कोलंबिया की पुलिस ने खुद इस कुत्ते के बारे में ट्वीट कर जानकारी दी है.

जर्मन शेफर्ड सोंब्रा पिछले 2 साल से कोलंबिया के पुलिस विभाग में काम कर रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक, इस कुत्ते की मदद से 245 अपराधियों की गिरफ्तारी की गई है. दो बड़े एयरपोर्ट पर सोंब्रा ड्यूटी करता है.

 

रिपोर्ट के मुताबिक, पहली बार सोंब्रा ने बड़ा खुलासा मार्च 2016 में किया था. तब इस कुत्ते ने सूंघने की खास क्षमता की वजह से केले के बक्से में गुप्त तरीके से रखे गए 2958 किलो कोकीन को जब्त करा दिया था. यह बक्सा बेल्जियम भेजा जा रहा था. वहीं, मई 2017 में कुत्ते ने बेल्जियम भेजे जा रहे 1.1 टन कोकीन को जब्त कराया. लेकिन बीते जून में पुलिस को कुत्ते की वजह से और बड़ी सफलता हासिल हुई क्योंकि 5.3 टन कोकीन पकड़ लिया गया.

खास बात ये है कि ये कुत्ता बुलेटप्रूफ गाड़ी में चलता है. इसके साथ 2 गनमैन भी रहते हैं. एयरपोर्ट पर पीक आवर्स में करीब 6 घंटे के लिए कुत्ते को ड्यूटी पर रखा जाता है. कुत्ते के साथ काम करने वाले पुलिसकर्मी बताते हैं कि यह अन्य कुत्तों से काफी तेज है. कुत्ते की उम्र करीब 6 साल है और यह कोलंबिया में काफी मशहूर हो चुका है.

 

Back to top button
E-Paper