सुल्तानपुर : डीएम व सीडीओ ने आंगनबाड़ी केन्द्र, का किया आकस्मिक निरीक्षण

सुल्तानपुर। शासन के निर्देश के क्रम में पोषण अभियान के अर्न्तगत कुपोषण की अधिकता वाले आंगनबाडी केन्द्रों को चिन्हित कर जनपद स्तरीय अधिकारियों द्वारा आंगनबाडी केन्द्रों को गोद लेकर 30 सितम्बर 2022 तक ‘‘आदर्श आंगनबाड़ी केन्द्र‘‘ के रूप में विकसित किया जाना है। इस क्रम में जिलाधिकारी रवीश गुप्ता द्वारा गोद लिये गये आंगनबाड़ी केन्द्र दूबेपुर, विकास खण्ड दूबेपुर का गुरूवार को आकस्मिक निरीक्षण किया गया।

निरीक्षण के दौरान पाया गया कि आंगनबाड़ी केन्द्र विभागीय भवन में संचालित होता है। आंगनबाड़ी केन्द्र पर वाह्य विद्युत कनेक्शन न उपलब्ध होने के कारण मौके पर जिलाधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया कि आंगनबाड़ी केन्द्र पर विद्युत कनेक्शन की कार्यवाही पूर्ण कर शीघ्र कनेक्शन कराया जाये। आंगनबाड़ी केन्द्र के साथ निर्मित शौचालय जिसका रास्ता भवन के बाहर से होकर जाता है। जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि शौचालय को भवन के अन्दर से ही कनेक्ट किया जाये। मौके पर आंगनबाड़ी केन्द्र पर वजन हेतु साल्टर तथा इलेक्ट्रानिक दोनों प्रकार की मशीन उपलब्ध थी, जिस पर जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि साल्टर मशीन के बजाय इलेक्ट्रानिक मशीन से बच्चों का वजन लिया जाये। साल्टर मशीन में बच्चों को टांगकर वजन लिया जाता है, जिससे दुर्घटना होने की संभावना रहती है।

निरीक्षण में आंगनबाड़ी केन्द्र पर 06 माह से 03 वर्ष के 48 बच्चे 03 से 06 वर्ष के 23, 14 गर्भवती व 12 धात्री महिलाएं पंजीकृत पाये गई। केन्द्र पर 02 बच्चे सैम व 02 बच्चे मैम की श्रेणी में पाये गये। मौके पर एक बच्चे रघुवीर पुत्र राहुल माता का नाम रंजना का वजन जिलाधिकारी द्वारा अपने समक्ष कराया गया। जिसका वजन मानक के अनुसार कम पाये जाने पर निर्देशित किया गया कि सीएचसी में जांच कराते हुये बच्चे को आज ही एनआरसी के लिये रेफर कराते हुए भर्ती कराकर इलाज कराया जाय।

आंगनबाड़ी केन्द्र के बाहर रास्ते पर मौंरंग, गिट्टी व सीमेन्ट रास्ते में गिरी होने पर जिलाधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया कि उसे तत्काल हटवाना सुनिश्चित करें। निरीक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अतुल वत्स, जिला कार्यक्रम अधिकारी रवीश्वर कुमार राव, खण्ड विकास अधिकारी दूबेपुर सत्य नरायन सिंह, बाल विकास परियोजना अधिकारी, क्षेत्रीय मुख्य सेविका आदि उपस्थित रहीं।

Back to top button