उन्नाव में तेंदुवा का आतंक, बागों की रखवाली कर रहे ग्रामीणों पर किया हमला, देखे फिर क्या हुआ….

हसनगंज उन्नाव। कोतवाली हसनगंज क्षेत्र के ग्राम मौला बाकीपुर के बागों में तेंदुवा ने रखवाली कर रहे दो ग्रामीणों पर हमला बोल दिया। जिससे ग्रामीणों में दहशत फैल गई ।ग्रामीणों ने आनन-फानन 112 नंबर पुलिस व वन विभाग को फोन पर सूचना दी। पुलिस इंस्पेक्टर ने पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच कर ग्रामीणों से जानकारी ली।घायल युवकों को सीएचसी हसनगंज में भर्ती कराया गया है।तेंदुआ को पकड़ने के लिए मोहान रेंज के वन विभाग के अधिकारियों के पास कोई साधन न होने से तमाशबीन बने रहे।जिससे रेंजर ने असहाय होकर लखीमपुर खीरी टीम को बुलाया गया है।


हसनगंज कोतवाली क्षेत्र के मौलाबाक़ी पुर गाँव के बाहर मलखान सिंह की आम की बाग में सूरज पुत्र सोहन ने जैसे ही तेंदुवा देखते ही दहशत में हो गया और शोर मचाकर ग्रामीणों को बताया जिस पर सैकङो की संख्या में ग्रामीण लाठी डंडे व हथियारों से लैस होकर बाग में भारी भीड़ जमा हो गई। ग्रामीणों ने 112 नम्बर डायल कर पुलिस व वन विभाग को सूचना दी।सबसे पहले लेखराम सिंह पुत्र केवल सिह ,व अरविंद सिंह पुत्र अमर सिंह बागों की तरफ जा रहे थे कि तब तक देदुंवा ने झपट कर घायल कर दिया।,ग्रामीणो ने घायल दोनों युवकों को सीएचसी हसनगंज में भर्ती कराया है।
भीड़ बढ़ती देख तेंदुवा गांव के बाहर आम की बाग से निकल कर पचिगहना गांव की ओर बागों की झाडियों में छिप गया।भीषण गर्मी में पुलिस व वन विभाग की टीम के साथ ग्रामीण की सैकड़ों की भीड़ पेड़ों की छाह लेकर जमा रहे।रेंजर डी डी पाल वन टीम के साथ मौके पर पहुंच कर साधन न होने से देदुंआ को पकड़ने के लिए हिम्मत नहीं जुटा सके।

और ग्रामीणों के साथ तमाशबीन बने रहे। कोतवाल अरुण प्रताप सिंह ने बताया कि देखने मे तेंदुवे का वजन लगभग एक कुंतल से ज्यादा का लगता है जो पता नहीं किधर से भटक कर यहां हसनगंज कोतवाली क्षेत्र में आ गया है। तेंदुवे को पकड़ने के लिए लखीमपुर वन विभाग की टीम को बुलाया गया है ।
तेंदुवा की खबर सुनते ही लाक डाउन में भी भीषण गर्मी व लू में मौलाबाक़ी पुर, पंचम खेडा , निजामपुर पचिगहना, रायखेडा आदि गाँवो के पाँच सौ से भी अधिक ग्रामीणों ने धावा बोल दिया।वन विभाग अधिकारियों ने ग्रामीणों को देदुंवा को मारने के लिए रोकते रहे।

Back to top button
E-Paper