जरवल पुलिस के गले का फांस बन चुका है सरकारी चेको पर हस्ताक्षर का मामला

अरसद आज विधानसभा के सामने करेगा आत्मदाह उसके ठिकानों को खंगाल रही पुलिस

तीन वर्ष मे बदल गए चार विवेचक फिर भी नही सुलझी गुल्थी

हुजूर ! जरवल निकाय के कुए मे पड़ी है भाँग “बाबा” का न धूम जाए हंटर ?

भास्कर ब्यूरो
जरवल/बहराइच। बात जब नगर पंचायत जरवल की आती है तो यहाँ के अजीबो गरीब कोई नई कहानी से लोग रूबरू जरूर हो जाते है।अब एक नई मुसीबत से जरवल पुलिस को रुब-रु होना पड़ रहा है।सूत्रों की माने तो एक बार न्याय न मिलने की दशा मे कस्बे के ही रहने वाले अरसद आलम ने मुख्यमंत्री समेत पुलिस महानिदेशक गोरखपुर जोन पुलिस उपमहानिरीक्षक देवीपाटन मण्डल गोंडा पुलिस अधीक्षक एवं डीएम बहराइच को 21 मई 2022 को रजिस्टर्ड डाक द्वारा शिकायती पत्र भेजा है जिसमे शिकायत कर्ता ने शिकायती पत्र मे लिखा है कि वह न्याय न मिलने की वजह से दस जून 2022 को साढ़े ग्यारह बजे दिन मे आत्म दाह कर लेगा जिसकी समस्त जिम्मेदारी शासन व प्रशासन की होगी।भेजे गए शिकायती पत्र मे पीड़ित ने कहा है कि इस निकाय मे चेयरमैन तस्लीम बानो के जिला बदर पति इंतजार अहमद उर्फ मिथुन को पुलिस एक ओर उसके करतूत पर पर्दा डाल रही है तो दूसरी तरफ उस पर जिला बदर अपराधी मिथुन उसे ही गंभीर मामलों में फसाने का षणयंत्र रच रहा है जिसे पुलिस बखूबी जानती है।पीड़ित अरसद ने अपने  शिकायती पत्र मे यह भी लिखा है कि जरवल की चेयरमैन तस्लीम बानो का पति इंतजार अहमद उर्फ मिथुन सरकारी चेको पर अपना हस्ताक्षर करता था जिस पर वर्ष 2019 मे चेयरमैन तस्लीम बानो व उसके हिस्टिसीटर पति इंतजार अहमद उर्फ मिथुन पर गंभीर धाराओं मे जरवल रोड थाने पर मुकदमा भी लिखा गया था तमाम साक्ष भी दिए थे।पीड़ित ने शिकायती पत्र मे दर्शाया है कि बीते तीन वर्ष से फर्जी हस्ताक्षर की रिपोर्ट विधि विज्ञान प्रयोगशाला से जब आई भी तो सीओ कहते है 80% ही रिपोर्ट आई है।जिससे यह साबित हो रहा है कि पुलिस इस गम्भीर प्रकरण को  दफन कर देना चाहती है।जिससे मजबूर होकर उसने आत्मदाह करने का रास्ता चुना है।शिकायत कर्ता ने शिकायत पत्र मे लिखा है कि बीते तीन वर्ष मे चार विवेचक बदल गए लेकिन पुलिस ने उक्त प्रकरण को गंभीरता से नही लिया।


पुलिस तो अपना काम कर ही रही है।शिकायतकर्ता क्या कर रहा है वह जाने वैसे उक्त प्रकरण की विवेचना की जा रही है।
कमलेश कुमार
क्षेत्राधिकारी कैसरगंज


पुलिस को चकमा देकर भाग निकला अरसद अब उसके ठिकानों को खंगाल रही पुलिस

जरवल। तमाम कोशिशों के बाद भी आत्मदाह करने वाले व्यक्ति अरसद तक पुलिस नही पहुँच सकी है उसके कई ठिकानों पर पुलिस ने अपना जाल तो बिछाया पर सफलता हाथ न लगी आज अपने निर्धारित कार्यक्रम पर विधान सभा के सामने वह पहुँच पाता है कि नही एक यक्ष प्रश्न फिलहाल सामने है।

Back to top button