मण्डलायुक्त ने अधिकारियों संग बैठक में दिए कड़े निर्देश, कहा- बाहर से आने वाले लोगो को चिन्हित कर उन्हें होम क्वारंटीन किया जाये

सीतापुर . (सू0वि0) एक दिवसीय दौरे पर आये मण्डलायुक्त लखनऊ मण्डल लखनऊ मुकेश मेश्राम ने संबंधित अधिकारियों के साथ पी0ए0सी0 गेस्ट हाउस में बैठक की। बैठक के दौरान मण्डलायुक्त ने कड़े निर्देश दिये कि ग्राम निगरानी समितियों को और अधिक सशक्त किया जाये तथा सभी ग्राम प्रधानों को वाट्सअप ग्रुप के माध्यम से जोड़ा जाये। वाट्सअप ग्रुप के माध्यम से समस्त प्रकार की सूचनाओं का आदान प्रदान सुनिश्चित किया जाये एवं फीडबैक लिया जाये। उन्होंने कहा कि सभी खण्ड विकास अधिकारी विकास खण्ड स्तर पर कन्ट्रोल रूम स्थापित करते हुये निगरानी समितियों की नियमित मानीटरिंग करें तथा बाहर से आने वालों को चिन्हित करते हुये अनिवार्य रूप से होम क्वारंटीन किया जाये एवं उनकी निगरानी भी की जाये।

मोहल्ला निगरानी समितियों की नियमित मानिटरिंग किये जाने के निर्देश भी मण्डलायुक्त ने दिये। किसी भी व्यक्ति के अन्दर कोरोना के लक्षण आने पर यह समितियां तत्काल कन्ट्रोल रूम को सूचित करें। मनरेगा के अन्तर्गत अधिक से अधिक लोगों को रोजगार दिया जाये तथा कार्य के पहले का फोटो, कार्य के दौरान फोटो एवं कार्य समाप्ति पर फोटो डिजिटल फार्म संकलित किये जायें। गांवों में नियमित रूप से छिड़काव कराया जाये। 

मण्डलायुक्त श्री मेश्राम ने निर्देश दिये कि ग्राम पंचायत अपने वित्तीय संसाधनों से आवश्यकता के अनुसार आक्सीमीटर क्रय करके क्वारंटीन स्थलों पर उपलब्ध करायें तथा नियमित रूप से उसके माध्यम से होम क्वारंटीन और इंस्टीट्यूशनल में लोगों की जांच की जाये। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को नियमित रूप से हेल्थ बुलेटेन जारी करने के निर्देश दिये। उन्होंने निर्देश दिये कि मानकों के अनुरूप स्वास्थ्य सेवाएं भी उपलब्ध रखी जायें। राशन वितरण की समीक्षा करते हुये जनपद में नये राशन कार्ड बनाने की प्रगति एवं राशन वितरण के द्वारा अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वित किये जाने के संबंध में विभागीय अधिकारियों द्वारा किये गये प्रयासों की प्रशंसा भी की।

मण्डलायुक्त ने सभी उपजिलाधिकारियों व पुलिस क्षेत्राधिकारियों को निर्देश दिये कि अपने-अपने क्षेत्रों में भ्रमण कर यह सुनिश्चित करें कि दुकानों पर अनावश्यक रूप से भीड़ एकत्रित न हों। दुकान में दुकानदार, सेल्समैन और ग्राहक को मिलाकर अधिकतम पांच लोग ही एक समय में रहें। अपराधों पर प्रभावी नियंत्रण सुनिश्चित करने के निर्देश भी मण्डलायुक्त ने दिये। साथ ही कोरोना प्रोटोकाल एवं मास्क आदि लगाये जाने से संबंधित नियमों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करने एवं नियमों को तोड़ने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जनपद स्थानीय स्तर पर अधिक से अधिक रोजगार सृजित किये जाने के लिये प्रभावी कार्यवाही की जाये तथा अधिक से अधिक श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा दिलायी जाये। इसके लिये ई0एस0आई0सी0 एवं ई0पी0एफ0 में अधिक से अधिक श्रमिकों का पंजीकरण कराया जाये। ब्लाॅक स्तर पर क्षेत्र में आये सभी श्रमिकों के कौशल डाटा एकत्रित रखा जाये तथा उन्हें उनकी योग्यता के अनुसार कार्य उपलब्ध कराया जाये। साथ ही श्रम विभाग से संचालित योजनाओं से उन्हें लाभान्वित किया जाये। 

मण्डलायुक्त ने किया जिला अस्पताल का निरीक्षण

इसके उपरान्त मण्डलायुक्त ने जिला चिकित्सालय का निरीक्षण कर व्यवस्थाएं देखीं। उन्होंने लोगों को मास्क भी वितरित किये। उन्होंने इमरजेन्सी वार्ड, मेडिकल वार्ड, आई0सी0यू0 सहित अन्य वार्डों का निरीक्षण किया।

आपदा राहत स्थल में देखीं व्यवस्थाएं

मण्डलायुक्त ने सेक्रेट हार्ट इण्टर कालेज में बनाये गये आपदा राहत स्थल का भी निरीक्षण किया एवं व्यवस्थाएं देखकर वहां पर रूके हुये लोगों से बात करके फीडबैक भी लिया। उन्होंने संचालित किचेन का निरीक्षण कर व्यवस्थाएं भी देखीं। 

इस दौरान जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी, पुलिस उपमहानिरीक्षक/पुलिस अधीक्षक एल0आर0 कुमार, नोडल अधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, अपर जिलाधिकारी सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।
Back to top button
E-Paper