विवादित सीएमएस को हटाने के लिए डीएम को सौंपा ज्ञापन,

समाज सेवियों ने सीएमएस पर लगाये कर्तव्यों व दायित्वों का निर्वहन नहीं करने के आरोप,

औरैया। जन जागरण मोर्चा के राष्ट्रीय संयोजक समाजसेवी एवं अन्य लोगों ने मंगलवार को ककोर मुख्यालय पहुंचकर जिला अधिकारी के पद नेम उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन अतिरिक्त उप जिला अधिकारी को सौंपा है। जिसमें उन्होंने सौ शैय्या युक्त जिला चिकित्सालय  में तैनात मुख्य चिकित्सा अधीक्षक पर अपने कर्तव्यो व दायित्वो का सही निर्वहन नहीं करने का आरोप लगाते हुए हटाए जाने की मांग की है। जिससे उनके खिलाफ दर्ज मामलों की सही प्रकार से जांच हो सके।

जन जागरण मोर्चा के राष्ट्रीय संयोजक समाजसेवी महेश पांडे ने अपने समर्थकों समेत मंगलवार को ककोर मुख्यालय पहुंचकर जिला अधिकारी के पद नेम उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन उप जिला अधिकारी राशिद अली को सौंपा है। जिसमें उन्होंने कहा है कि जनपद के 100 शैय्या जिला चिकित्सालय चिचौली में तैनात मुख्य चिकित्सा अधीक्षक राजीव रस्तोगी अपने कर्तव्यों व दायित्वों का सही निर्वहन करने में आसफल रहे हैं। जन सामान्य के प्रति उनका व्यवहार अत्यंत खराब है। आम नागरिक व पत्रकारों के प्रति दुर्व्यवहार करना उनकी आदत बन गई है। उनका अब तक का कार्यकाल बहुत ही विवादित रहा है।

उक्त सीएमएस के खिलाफ एक पत्रकार द्वारा भी मुकदमा पंजीकृत कराया जा चुका है। आगे उन्होंने कहा है कि उक्त सीएमएस के कार्यकाल में बिना ई टेंडरिंग के 90 लाख रुपए की खरीददारी भी की गई। जिसकी जांच चल रही है। वर्तमान सीएमएस के रहते निष्पक्ष जांच का होना संभव नहीं है। उन्होंने अब तक के अपने कार्यालय में 100 शैय्या जिला चिकित्सालय में मरीजों के लिए कोई सार्थक प्रयास भी नहीं किए हैं। कई जांचों के लिए मरीजों को औरैया और कई जांचों के लिए चिचौली भटकना पड़ता है। जिसके चलते वह लोग उक्त सीएमएस को अस्पताल से अविलंब हटाने की मांग करते हैं। जिससे जिले के अस्पताल में मरीजों को सभी आवश्यक सुविधाएं प्राप्त हो सके। ज्ञापन देने वालों में प्रमुख रूप से देवेंद्र, गिरीश सिकरवार, मानसिंह राजपूत, सुरेश कुमार राजपूत, कमलेश नरायन द्विवेदी राम रतन व सुरेश सिंह राजावत आदि लोग शामिल रहे।

Back to top button
E-Paper