रंग कार्यशाला में निखर रही बच्चों की नाट्य प्रतिभा

65 बालक व बालिका को 10 से 28 जून तक दिया जाएगा प्रशिक्षण

भास्कर समाचार सेवा

मथुरा। उत्तर प्रदेश भारतेंदु नाट्य अकादमी लखनऊ, उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद और उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग के संयुक्त तत्वावधान में बाल रंग कार्यशाला विगत चार जून को वृंदावन स्थित गीता शोध संस्थान एवं रासलीला अकादमी भवन के सभागार में प्रारंभ हुआ।
रंग कार्यशाला में 65 बालक व बालिका नाट्य प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। रंग कार्यशाला में प्रशिक्षण देने के लिए फिल्म एवं नाट्य जगत के दो बडे प्रशिक्षक कलाकार डॉ विभांशु वैभव और राघवेन्द्र सिंह क्रमशः मुंबई और प्रयागराज से आए हुए हैं। यह शोध संस्थान भवन पर्यटक सुविधा केंद्र के सामने सौ सैया अस्पताल के बगल में है। 10 जून को उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद के सीईओ नगेंद्र प्रताप ने रंग कार्यशाला में दिए जा रहे प्रशिक्षण को देखा और अपने सुझाव भी दिए, उनके साथ सांसद प्रतिनिधि जनार्दन शर्मा भी उपस्थित रहे। जिला पर्यटन अधिकारी धर्मेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि वृंदावन में यह पहली ऐसी नाट्य कार्यशाला आयोजित की जा रही है जिसमें सरकारी स्तर पर बच्चों को मंच पर अभिनय प्रस्तुत करने की जानकारी दी जा रही है। इसमें अभिनय की संपूर्ण ट्रेनिंग दी जा रही है। उल्लेखनीय है कि भारतेंदु नाट्य अकादमी एक सरकारी अकादमी है। 28 जून तक चलने वाली इस रंग कार्यशाला में बच्चों को मंच पर कार्यक्रम प्रस्तुत करने के टिप्स दिए जा रहे हैं। इसमें बच्चों को मंच देकर उनमें झिझक दूर की जा रही है। खेल खेल में बच्चों को विभिन्न कलाकारों की कला के बारे में भी सिखाया जा रहा है। स्थानीय स्तर पर रंग कार्यशाला की व्यवस्थाएं उत्तर प्रदेश तीर्थ विकास परिषद के ब्रज संस्कृति विशेषज्ञ डॉ उमेश चंद्र शर्मा की देखरेख में चल रही हैं। उनके साथ गीता शोध संस्थान की कोऑर्डिनेटर डॉ रश्मि वर्मा और दूसरे कोऑर्डिनेटर चंद्र प्रताप सिंह सिकरवार भी इस आयोजन को सफल बनाने में जुटे हैं।

Back to top button