यह कैसा लाकडाउन, पुलिस के सामने बन्द हो जाती है दुकानें और हटते ही फिर सज जाता है स्थाई बाजार

इमरान खान 

देवरनियाँ / बरेली ।क्षेत्र के  गांव    कनमन,देवरनियां, रिछा,गिरधरपुर में लाकडाउन का उल्लंघन कर व्यापारियों द्वारा अपनी दुकानों को खोलने की खबर दो दिन पूर्व एक दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित हुई थी। जिस पर देवरनियां पुलिस ने तत्काल खबर का संग्यान लेकर कनमन,कढर्रा,देवरनियां, रिछा,गिरधरपुर में सघन चेकिंग अभियान चलाकर विना कार्यवाही के सख्ती तो की है।लेकिन वहीं लाकडाउन में दुकानदारों में पुलिस का खौफ नजर नहीं आ रहा है। पुलिस के बाजार में पहुँचने पर ही पुलिस के सामने दुकानों के शटर दुकानदार बन्द करने वाद पुलिस के जाने के वाद तुरंत दुकानों को खोलने पर फिर सज जाता है ।

बाजारआखिर यह कैसा लाकडाउन का पालन है। वहीं कुछ दिन पूर्व देवरनियां पुलिस ने कनमन के कुछ दुकानदारों से दुकानों को लाकडाउन का उलंघन कर दुकानों को खोलने पर खुली दुकानों को बन्द कराने के बाद लगभग दर्जनभर दुकानों की चाबियां पुलिस ने अपने कब्जे में ले ली थी।और इन दुकानदारों के खिलाफ लाकडाउन के उल्लंघन की कार्यवाही करने की बात कही थी।   लेकिन देवरनियां पुलिस ने देवरनियां  रेलवे के समीप दो मिठाई व चाय की दुकान लगातार लाकडाऊन में खुल रही है।और पुलिस खुद चाय की दुकान पर जाकर चुस्ती लगाते ।कनमन स्थित अमित कुमार गुप्ता लगातार मिठाई की दुकान सुबह छः वजे से दोहर ग्याहर बजे तक खुलती है। रिछा ,बसुधरनजगीर में शिव मन्दिर के पास व नगला ,पखुर्नी गाँव सिलाई की दुकाने लगातार खुल २ही है।,गिरधरपुर समेत किसी कस्बे में अभी तक कोई लाकडाउन उल्लंघन की कार्यवाही नहीं की है।  देवरनियां पुलिस हवा में हाथ पैर मार रही है।

वहीं देवरनियां पुलिस पर कुछ खास सत्ता के नेताओं के संरक्षण वाली दुकानों को  लाकडाउन का उल्लंघन कर इन दुकानों को खुलवाने के आरोप लग रहे हैं।आखिर लाकडाउन का उल्लंघन कर देवरनियां, गिरधरपुर, रिछा, कनमन,कठर्रा, पखुर्नी में लगातार का स्थाई बाजार प्रतिदिन खुलने के वाद देवरनियां पुलिस की मेहरवानी पर क्यों नहीं हो रही लाकडाउन उल्लंघन की कार्यवाही ।वहीं पुलिस व लाकडाउन का उल्लंघन कर रहे दुकानदारों के बीच लुकाछिपी का खेल लगातार जारी है। कहीं यह देवरनियां पुलिस की व्यापारियों को दी। जाने वाली ढील क्षेत्र के लोगों की अमूल्य जिंदगी को अपने आगोश में न ले ले।

Back to top button
E-Paper