भारत नेपाल सीमा पर आवागमन पूर्वत, क्रमबद्ध कर किया जा रहा नागरिकों की जांच, देखी जा नागरिकों की पहचान

भारत नेपाल सीमा पर सशस्त्र सीमा बल के जवानों ने सुरक्षा कारणों को लेकर सीमा पर बढ़ाई चौकसी

डॉग स्क्वायड में जिगर डॉग कर रहा नारकोटिक्स की जांच

रुपईडीहा/बहराइच । सशस्त्र सीमा बल के 42 वी वाहिनी के प्रभारी कमांडेंट प्रवीण कुमार ने बताया कि आवागमन करने वाले नागरिकों को सुरक्षित आवागमन के लिए सुरक्षा कारणों को लेकर सीमा पर सतर्कता बढ़ा दी है व जाँच के दायरे को और पुख्ता कर दिया गया है वहीं प्रथम प्राथमिकता सोशल डिस्टेंस को बनाए रखने का भी प्रमुखता से ध्यान रखते हुए आवागमन सामान्य रूप से जिस प्रकार पहले था उसी प्रकार तो चलेगा लेकिन रिक्सो की भीड़ भाड़ में कुछ असामाजिक तब तो भीड़ का फायदा उठाते हुए भागने का प्रयास करते थे जिसे क्रमबद्ध तरीके से कर दिया गया है।

रुपईडीहा बीओपी पर तैनात निरीक्षक रमेश कुमार ग्वाला ने बताया कि क्रमबद्ध तरीके से आवागमन करने वाले नागरिकों के आईडी कार्ड देखकर उनकी पहचान कर के जाने दिया जा रहा है बीमार एंबुलेंस आदि को जरूरत के हिसाब से जाने की अनुमति पूर्वत हैं।श्वान दस्ता के हैंडलर इंद्र सिंह गुर्जर ने बताया की स्वान जिगर की मदद से आवागमन करने वाले नागरिकों के बैग आदि को सूंघ कर नारकोटिक्स जांचने में मददगार साबित हो रहा है।

प्रभारी कमांडेंट प्रवीण कुमार ने बताया कि जांच के दायरे को बढ़ाकर किसी को परेशान करने का कोई उद्देश्य नहीं है जांच के दायरे को इस लिए बढ़ाया गया है जिससे भीड़भाड़ का फायदा उठा कर असामाजिक तत्व देश की सुरक्षा व सम्प्रभुता को ठेस न पहुंच सके और मानवीय व्यवहार पर आवागमन करने वाले नागरिक सुरक्षित आवागमन कर सकें
प्रभारी कमांडेंट प्रवीण कुमार ने बताया कि मौजूदा समय में सीमा पर हो रही लोगों की भीड़ व ट्रैफिक का फायदा उठाकर प्रतिबंधित वस्तुओं को ले जाने वाले तस्करों को लगातार जवानों द्वारा पकड़कर सामानों को सीज किया गया है जिसमें यह भी अनुमान लगाया जा रहा है कि ये ट्रैफिक व भीड़ तस्करों को खूब भा रही है जिस पर लगाम लगाने के लिए सशस्त्र सीमा बल की टीम बेतरतीब लगे ट्रैफिक व भीड़ को खत्म करने के लिए सुदृढ़ व्यवस्था कायम कर सभी साइकिल व छिटपुट चल रहे रिक्शो के आवागमन पर रोक लगा दी है जिससे पैदल आ रहे लोग क्रमबद्ध तरीके से आवागमन कर सके भीड़ का फायदा उठाकर असामाजिक तत्व आवागमन ना कर पाए इसकी विशेष चौकसी की जा रही है।

Back to top button
E-Paper