अमृतसर से धरदबोचे गए ISI के दो जासूस, भारतीय सेना की खुफिया जानकारी भेज रहे थे पाकिस्तान

पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसी ISI और सीमा पार बैठे आतंकवादी संगठन के सरगना भारत को अशांत करने की साजिशों में जुटे हैं। एक दिन पहले जहां नागपुर स्थित आरएसएस मुख्यालय की रेकी करने वाले आतंकवादी को गिरफ्तार किया गया था। वहीं अब पंजाब की राजधानी अमृतसर से आईएसआई के दो जासूसों को गिरफ्तार किया गया है। इन दोनों पर आरोप है कि ये भारतीय सेना से जुड़ी खुफिया जानकारियां पाकिस्तान भेजा करते थे। पंजाब पुलिस ने इनकी गिरफ्तारी की पुष्टि की है। इन दोनों के खिलाफ ऑफिसियल सीक्रेट एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

अधिकारियों ने अमृतसर से दो जासूसों को गिरफ्तार किया

कार्रवाई की जानकारी देते हुए पंजाब पुलिस ने बताया कि खुफिया जानकारी मिलने के बाद स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल अमृतसर के अधिकारियों ने अमृतसर से दो जासूसों को गिरफ्तार किया। इनकी पहचान कोलकाता के जफर रियाज और बिहार के मोहम्मद शमशाद के रूप हुई है। इन दोनों पर आरोप है कि ये भारतीय सेना से जुड़ी जानकारी पाकिस्तान भेजा करते थे। मोहम्मद शमशाद बिहार के मधुबनी जिले के भेजा का रहने वाला है। वह अमृतसर स्टेशन के बाहर नींबू-पानी की दुकान लगाता है।

भारत के संवेदनशील तस्वीरें-वीडियो बनाते पकड़ा गया है

वहीं जफर रियाज कोलकाता के बेनियापुकुर का रहने वाला है। बताया जाता है कि जफर ने 2005 में एक पाकिस्तानी महिला रबिया से शादी की थी। जो पहले कोलकाता में रहती थी। हालांकि साल 2012 में दोनों लाहौर चले गए। जहां उसे लालच देकर पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसी आईएसआई ने जासूसी करवाना शुरू कर दिया। बताया गया कि जफर रियाज अक्सर भारत आता-जाता रहता है। उसे भारत के संवेदनशील स्थानों की तस्वीरें और वीडियो बनाते पकड़ा गया है।

वहीं बिहार का मो. शमशाद अमृतसर के मीराकोट चौक पर किराये के भवन में रहता है। जफर ने जासूसी में उसे अपना सहयोगी बनाया। दोनों ने पूछताछ के दौरान भारत की संवेदनशील स्थानों की फोटोग्राफी करने का जुर्म कबूला है। साथ ही तस्वीरों और वीडियों को पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसी आईएसआई को भेजने की बात भी स्वीकारी है। दोनों को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की जा रही है।

Back to top button