शादी का अनोखा बंधन : मंडप में दो प्रेमिकाओं के संग दुल्हे ने लिए सात फेरेे

छत्तीसगढ़ के कोंडागांव में अनोखी शादी हुई। एक युवक ने अपनी दो प्रेमिकाओं से एक ही साथ एक मंडप में शादी रचाई। खास बात यह थी कि दूल्हा दो बच्चों का पिता है। दोनों प्रेमिकाओं से उसे एक-एक बेटी भी है। शादी रचाने के लिए दोनों दुल्हनें अपनी बेटियों को लेकर मंडप में पहुंची थीं। शादी के बाद दूल्हे ने कहा कि मुझे तो दोनों से प्यार हो गया, अब जीवनभर उनका साथ भी दूंगा।

सगाई के बाद साथ रहने लगी दुर्गेश्वरी

यह शादी केशकाल के ईरागांव क्षेत्र के ग्राम उमला में रचाई गई। ग्राम आडेंगा निवासी दुर्गेश्वरी मरकाम के परिवार वालों ने पहले गांव के रजनसिंह सलाम से शादी का प्रस्ताव रखा था। दोनों की समाज के बीच सगाई भी करा दी गई और दुर्गेश्वरी रहने के लिए रजनसिंह के घर आ गई। कुछ माह बाद उसने एक बेटी को जन्म दिया। इस बीच रजनसिंह को आंवरी की सन्नो बाई गोटा से भी प्रेम हो गया।

दोनों युवतियों ने जताई अपनी रजामंदी

रजनसिंह और सन्नों का प्रेम प्रसंग इतना आगे बढ़ा कि वह भी गर्भवती हो गई। उसने भी एक बेटी को जन्म दिया। इसका पता जब लोगों को चला तो बातें शुरू हो गईं। इस पर रजनसिंह ने परिवार से बात की। समाज की बैठक हुई और दोनों युवतियों ने रजनसिंह के साथ शादी की हामी भर दी। दोनों को ऐतराज नहीं था। फिर समाज की रजामंदी से रजनसिंह ने दोनों युवतियों से शादी का फैसला ले लिया।

शादी कार्ड में दोनों युवतियों का लिखे गए नाम

आदिवासी समाज के उपाध्यक्ष सोनूराम मंडावी ने बताया कि समाज और परिवार की रजामंदी के बाद शादी कार्ड छपवाए गए। उसमें दोनों ही युवतियों का नाम लिखवा दिया। 8 मई को लगन और टिकावान रखा गया। इस शादी में ग्राम उमला समेत आसपास के 500 से 600 लोग आशीर्वाद देने पहुंचे।

Back to top button