संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को मिले पांच नए अस्थाई सदस्य, जानिए कब से शुरू होगा कार्यकाल

 इक्वाडोर, जापान, माल्टा, मोजाम्बिक और स्विट्जरलैंड जीते चुनाव

इस साल दिसंबर में खत्म होगा भारत सहित पांच देशों का कार्यकाल

न्यूयॉर्क। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को पांच नए अस्थाई सदस्य मिल गए हैं। अस्थाई सदस्यता के लिए हुए चुनाव में इक्वाडोर, जापान, माल्टा, मोजाम्बिक व स्विट्जरलैंड को कामयाबी मिली है। ये देश इस साल दिसंबर में भारत सहित पांच देशों का कार्यकाल समाप्त होने के बाद जनवरी से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अस्थाई सदस्य बनेंगे।

संयुक्त राष्ट्र महासभा में गुरुवार को मतदान के जरिए अगले वर्ष जनवरी 2023 में काम संभालने के लिए पांच नए अस्थाई सदस्यों का चुनाव हुआ। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में कुल 15 सदस्य होते हैं, इनमें से चीन, फ्रांस, रूस, ब्रिटेन और अमेरिका स्थाई सदस्य हैं। शेष दस सदस्यों में से हर वर्ष दो वर्ष कार्यकाल के लिए पांच सदस्यों का चुनाव होता है। संयुक्त राष्ट्र महासभा में 193 सदस्य देश हैं। ये देश हर वर्ष दो वर्षीय कार्यकाल के लिए पांच नए सदस्यों का चुनाव करते हैं।

सुरक्षा परिषद में पहुंचने के लिए हर देश को दो तिहाई सदस्य देशों यानी 128 देशों के समर्थन की जरूरत होती है। अस्थाई सदस्यों के चुनाव में भौगोलिक प्रतिनिधित्व को भी ध्यान में रखा जाता है। इस वर्ष तीन क्षेत्रीय समूहों से पांच सीटों के लिए चुनाव हुआ। अफ़्रीकी और एशिया-प्रशांत देशों के लिये दो, लैटिन अमेरिकी और कैरीबियाई देशों के लिए एक और पश्चिमी यूरोप व अन्य देशों के लिए दो सीटें निर्धारित की गयी थीं। इस वर्ष के चुनाव में मोजाम्बिक को सर्वाधिक 192 सदस्य देशों का समर्थन मिला।

इसके अलावा इक्वाडोर को 190, स्विट्जरलैंड को 187, माल्टा को 185 और जापान को 184 देशों का समर्थन मिला। संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष अब्दुल्ला शाहिद ने नतीजों का ऐलान किया। नए अस्थाई सदस्य भारत, आयरलैंड, केन्या, मैक्सिको और नॉर्वे का स्थान लेंगे। इन पांचों देशों का कार्यकाल दिसंबर 2022 में समाप्त हो रहा है।

Back to top button