यूपी : सेवानिवृत्त दारोगा की हत्या मामले में सात गिरफ्तार, हिस्ट्रीशीटर समेत दो की तलाश

इलाहाबाद  । सेवानिवृत्त दारोगा की हत्या मामले में शिवकुटी पुलिस ने मंगलवार की रात में कुल सात आरोपियों आरोपी को गिरफ्तार किया, जबकि वारदात में शामिल हिस्ट्रीशीटर अपराधी सहित दो लोगों की तलाश में पुलिस लगातार दबिश दे रही है। 

Image result for सेवानिवृत्त दारोगा की हत्या

गिरफ्तार आरोपियों में मो. यूसुफ पुत्र जुनैद कमाल उर्फ जुन्ना निवासी सिलाखाना थाना शिवकुटी और शेबू, राजिक, हिना पुत्री जुनैद, मेहदी पुत्री जुनैद,साना पत्नी जुनैद कमाल एवं पड़ोसी इब्ने पुत्र विल्लू हैं। फरार मुख्य हत्यारोपी जुनैद कमाल उर्फ जुन्ना समेत दो अपराधियों की तलाश में दबिश जारी है।

उल्लेखनीय है कि सोमवार की सुबह सेवानिवृत्त दारोगा अब्दुल समद (70) पुत्र स्व. दोस्त मोहम्मद इलाहाबाद की जमीनी रंजिश में भूमाफिया और हिस्ट्रीशीटर अपराधी जुनैद कमाल उर्फ जुन्ना व उसके परिवार के लोगों ने लाठी-सरिया से पीट-पीटकर मरणासन्न कर दिया था। दारोगा को उपचार के लिए स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय में दाखिल कराया गया था, जहां उसकी सोमवार की शाम को ही मौत हो गई।

Image result for सेवानिवृत्त दारोगा की हत्या

पुलिस ने मृत दारोगा के परिजनों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया। मंगलवार दोपहर उसके शव की वीडियोग्राफी के साथ अन्त्य परीक्षण किया गया। पुलिस ने विधिक कार्रवाई पूरी करने के बाद शव को अन्तिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया। मंगलवार को हुए पोस्टमार्टम में मृत दारोगा के शरीर पर एक दर्जन चोटें पाई गई, जिससे बेरहमी से पिटाई की वजह से मौत की पुष्टि हुई।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नितिन तिवारी के निर्देश पर हिस्ट्रीशीटर अपराधी जुनैद कमाल उर्फ जुन्ना व उसके भाई उबैद के परिवार का आपराधिक रिकार्ट जुटाने एवं उसके खिलाफ की गई भूमाफिया मामले की जांच को तेजी से शुरू कर दिया गया।
जुनैद कमाल उर्फ जुनैद व उसके भाईयों पर अवैध कब्जा करके तीन लॉज संचालित करने का मामला भी प्रकाश में आया है। दारोगा ने अवैध कब्जे के खिलाफ जांच कराने के लिए शिकायत भी की थी, जिसमें उसकी जान चली गई। 

Back to top button
E-Paper