यूपी के कोरोना ने बरपाया कहर: जौनपुर में हैं सबसे अधिक पॉजिटिव, दूसरे नम्बर पर पहुंचा काशी, जानें- अचानक कैसे बढ़ गई संख्या

वाराणसी. कोरोना संक्रमितों के मामले में बुधवार के आंकड़ों ने हर किसी को हैरान कर दिया। 15 दिन पहले कोरोना मुक्त हो चुके जौनपुर जिले में कोरोना के केस बहुत तेजी से बढ़े हैं। मुम्बई आदि शहरों से आये लोगों के लगातार पॉजीटिव मिलने के बाद अब जौनपुर में 156 कोरोना के केस आ चुके हैं। जबकि मंगलवार को बनारस में एक भी संक्रमित न मिलने से यहां अभी सँख्या 152 है।

बतादें की 15 दिन पहले जौनपुर कोरोनामुक्त हो चुका था। पर अचानक से बाहरी शहरों से लोगों के आने के बाद यहां संख्या खूब बढ़ गई। बुधवार को भी 16 केस आने के बाद यहां सँख्या 156 पहुँची है। जबकि अभी तक यहां 22 लोग ही ठीक हुए हैं जबकि तेन की जान जा चुकी है। वहीं 131 लोग अभी भी अस्पताल में हैं। बनारस की बात करें तो जिले में अब तक 83 लोग स्वस्थ हो चुके हैं जिन्हें अस्पताल से घर भेजा जा चुका है। जबकि चार की जान जा चुकी है। वही 65 सक्रिय हैं जिनका इलाज चल रहा है।

जानिए क्या है अन्य जिलों का हाल
पूर्वांचल के अन्य जिलों की बात करें तो चंदौली में पॉजिटिव की संख्या 21 हो गई है। सभी का इलाज चल रहा है। गाजीपुर में संक्रमितों की संख्या अब 91 हो गई है। इसमें 19 मरीज ठीक हो चुके हैं। 72 का इलाज चल रहा है। आजमगढ़ में संख्या 55 हो चुकी है। इसमें केवल 9 लोग ही स्वस्थ हुए हैं। दो लोगों की मौत हो चुकी है। 44 एक्टिव केस हैं। बलिया में कुल संक्रमितों की संख्या 31 हो गयी है। मऊ में कुल मरीजों की संख्या 15 है। इसमें केवल एक ही स्वस्थ हुआ है। बाकि 14 लोगों की इलाज चल रहा है। मिर्जापुर में संख्या 32 हो गई है। इसमें सात लोग ठीक हो चुके हैं। अभी 25 एक्टिव केस हैं। भदोही में संख्या 30 पहुंच गई है। सोनभद्र में पॉजिटिव मरीजों की संख्या पांच है। सभी एक्टिव केस हैं।

जौनपुर में बढ़ती सँख्या का ये है कारण
बतादें की पूर्वांचल का जौनपुर ऐसा जिला है जहां के लोग मुम्बई में सबसे ज्यादा हैं। कहा जाता है की इस जिले में घर घर के लोग मुम्बई रहते हैं। यहां से मुंबई के लिए स्पेशल ट्रेन तक चलती है। जब लॉकडाउन में ढील मिली तप श्रमिक स्पेशल ट्रेन से लोग घरों को लौटे पर हैरानी इस बात की है की बड़ी संख्या में यहां कोरोना का केस सामने आ रहा है।

Back to top button
E-Paper