यूपी में आतंकियों की बड़ी साजिश नाकाम, हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी को ATS ने किया गिरफ्तार

कानपुर। उत्तर प्रदेश एटीएस (एंटी टेररिजम स्क्वॉड) ने हिजबुल मुजाहिद्दीन के एक संदिग्ध आतंकी को कानपुर से गिरफ्तार किया है। शुरूआती जांच में पता चला है कि आरोपी का नाम कमरुज्जमा है। गिरफ्तार किया गया आंतकवादी कमरुज्जमा उर्फ डॉ हुरैहा मूल रूप से असम रहने वाला बताया जा रहा है। पुलिस गिरफ्तार किए गए आतंकी से पूछताछ कर रही है।

बता दें कि हाल ही में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने जामा मस्जिद इलाके में दो आतंकवादियों को गिरफ्तार किया था। इन आतंकियों के पास से पुलिस ने हथियार बरामद किए थे। पुलिस ने बताया था कि ये आतंकी उत्तर प्रदेश से इन हथियारों को लेकर कश्मीर जा रहे थे। ऐसे में कानपुर से एक हिजबुल के आतंकवादी की गिरफ्तारी काफी अहम मानी जा रही है।

डीजीपी ने कहा कि इस आतंकवादी ने सोशल मीडिया पर एके-47 के साथ फोटो शेयर किया था। उन्‍होंने बताया कि जम्‍मू-कश्‍मीर में सक्रिय इस आतंकवादी संगठन के आतंकी का नाम कमरजुमा है। वह मूल रूप से असम के नौगांव का रहने वाला है। उन्‍होंने बताया कि ऐसा प्रतीत होता है कि हिज्‍बुल ने उसे इस क्षेत्र में आतंकवादी वारदात की तैयारी की जिम्‍मेदारी सौंपी थी।

डीजीपी ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में उसने स्‍वीकार किया है कि वह हिज्‍बुल मुजाहिद्दीन का सक्रिय सदस्‍य है। उन्‍होंने बताया कि जम्‍मू-कश्‍मीर के किश्‍तवाड़ में उसकी ट्रेनिंग हुई थी। ओपी सिंह ने बताया कि कमरजुमा के मोबाइल से एक विडियो मिला है जिससे पता चलता है कि उसने कानपुर में एक मंदिर की रेकी की थी और वहां हमले के फिराक में था।

ओपी सिंह ने बताया कि भारतीय होने की वजह हिज्‍बुल ने उसे आगे रखा हुआ था ताकि किसी को उस पर शक न हो। उन्‍होंने कहा कि एनआईए से मिली सूचना के आधार पर इस आतंकवादी को एटीएस ने उसे गिरफ्तार किया है।

[googlepdf url=”http://www.dainikbhaskarup.com/wp-content/uploads/2018/09/प्रेस-नोट-HM-Arrest-1.pdf” download=”Download PDF” ]

Back to top button
E-Paper