लखनऊ : ठाकुरगंज दोहरे हत्याकांड मामले में मुख्य आरोपी गिरफ्तार

लखनऊ । ठाकुरगंज थाना क्षेत्र में बम्बा मार्ग पर मुसाहिबगंज चुंगी के पास दो सगे भाईयों इमरान (20) व अरमान (18) की गोली मारकर हत्या मामले में मुख्य आरोपी साहिल उर्फ छोटू को गुरुवार की सुबह पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। शेष बदमाशों की तलाश में पुलिस दबिश दे रही है। बीती रात को मोहल्ला मल्लाही टोला निवासी इमरान अपनी कोब से अपने भाई अरमान और दोस्त निशांत के साथ घर वापस आ रहा था।

अरमान व इमरान।

तभी मुसाहिबगंज चुंगी के पास उसके वाहन को एक मोटरसाइकिल व एक कार में सवार छह बदमाशों ने ओवरटेक कर रोका और दोनों अरमान और इमरान को नीचे उतार कर लाठी-डंडों से पीटने लगे। इस बीच इमरान के वाहन में पीछे की सीट पर बैठे निशांत को मौका मिल गया और वह भाग निकला। निशांत ने ठाकुरगंज थाने को सूचना दी और थाने से पुलिस के जवान मौके पर पहुंचे लेकिन तभी तक देर हो चुकी थी। बदमाशों ने लाठी-डंडों से पीटने के बाद दोनों भाईयों अरमान व इमरान को गोली मार दी थी।

घटना की जानकारी मिलने पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक समेत अन्य पुलिस अधिकारी भी वहां पहुंच गये। आनन-फानन में पुलिस अधिकारियों ने दोनों भाईयों को ट्रामा सेंटर पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। ठाकुरगंज थाना के प्रभारी निरीक्षक अंजनी कुमार पाण्डेय ने बताया कि घटना के बाद मौके से मिले सीसीटीवी फुटेज में छह बदमाशों को देखा जा रहा है। इसमें मृतकों के परिजन ने बदमाशों की पहचान कर ली है और पुलिस ने मुख्य रुप से आरोपी बनाये गए साहिल को उसके घर के पास से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस शेष बदमाशों की तलाश कर रही है।

जानिए क्या था मामला 

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में बेखौफ बदमाशों ने बुधवार रात सगे भाई इमरान (20) व अरमान (18) को दौड़ा-दौड़ाकर डंडों और लकड़ियों से पीटा। बाद में गोली से उड़ा दिया।

करीब छह बदमाश मुसाहिबगंज की भीड़ भरी बस्ती में दोनों को पीटते रहे लेकिन कोई बचाव में नहीं आया। जहां वारदात हुई वहां से थाना महज 500 मीटर दूर है। वारदात के बाद लोगों के आक्रोश को देखते हुए आठ थानों की पुलिस मौके पर तैनात कर दी गई।

सीसीटीवी फुटेज खंगालने के साथ बदमाशों की तलाश की जा रही है। चार लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। प्रभारी निरीक्षक अंजनी कुमार पांडेय ने बताया कि मोहल्ला मल्लाही टोला निवासी इमरान कैब चालक था। पिता प्रॉपर्टी डीलर दिलदार मोहल्ला मिश्री की बगिया में छोटे बेटे रेहान के साथ रहते हैं।

इमरान भाई अरमान व दोस्त निशांत के साथ रेहान के घर बीमार पिता को दवा देने गए थे। वहां से लौटते समय ठाकुरगंज चौराहा से चाय लेकर बंधा रोड की तरफ जा रहे थे।

कार व बाइक से किया ओवरटेक, जान बचाकर भागे तो बोल दिया हमला

जलसंस्थान के पास पीछे से एक बाइक व कार से आए बदमाशों ने कैब को ओवरटेक करके रोका। गाड़ी चला रहे अरमान के बगल वाली सीट पर बैठे इमरान से नोकझोंक की। कैब की पिछली सीट पर बैठा निशांत माजरा समझता, इससे पहले दोनों भाई गाड़ी से उतर कर भागे।

बदमाशों ने उन पर डंडे से हमले करने के साथ ही ताबड़तोड़ गोलियां चला दीं। कार से करीब 20 मीटर दूर दोनों भाई खून से लथपथ होकर गिर गए। जान बचाकर भागे निशांत ने उनके परिवारीजनों को जानकारी दी।

बढ़ा आक्रोश, छावनी में तब्दील हुआ इलाका
दोहरे हत्याकांड की सूचना पर लखनऊ जोन के अपर पुलिस महानिदेशक राजीव कृष्ण, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी, अपर पुलिस अधीक्षक नगर पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे।

ठाकुरगंज थाने की टीम ने खून से लथपथ पड़े दोनों युवकों को ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया। डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। दोहरे हत्याकांड से इलाके में रोष फैलते देख चौक, वजीरगंज, सआदतगंज थाने से फोर्स बुला ली गई। देर रात छह और थानों से फोर्स वहां बुला ली गई।

चल रही थी तनातनी

प्रत्यक्षदर्शी व एक अन्य युवक ने पुलिस को जानकारी दी कि चीना उर्फ उमेश व शिवम सिंह से दोनों भाइयों की तनातनी चल रही थी। कुछ दिनों पहले चीना व शिवम का नदीम नामक शख्स से भी झगड़ा हुआ था।

प्रभारी निरीक्षक ने प्रथमदृष्ट्या संदेह के घेरे में आए बदमाशों की तलाश में उनके संभावित ठिकानों पर छापामारी की जा रही है। एक टीम ने इलाके के सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगालने शुरू किए हैं।

Back to top button
E-Paper