मनी लाॅड्रिंग के आरोप में फंसे वाड्रा, ईडी दफ्तर में पूछताछ जारी, पात्रा ने बोली ये बात..

मनी लॉन्ड्रिंग केस के मामले  में  सोनिया गांधी के दामाद कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा के पति रॉबर्ट वाड्रा दिल्ली स्थित ईडी दफ्तर पहुंचे हैं। उनके साथ उनकी पत्नी प्रियंका वाड्रा भी ईडी दफ्तर पहुंचीं,  जहा  उनसे डिप्टी डायरेक्टर समेत तीन अफसर पूछताछ कर रहे हैं। इससे पहले दिल्ली की एक अदालत ने धन शोधन मामले में रॉबर्ट वाड्रा को 16 फरवरी तक अंतरिम जमानत दी थी। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने यह मामला दर्ज किया था। विशेष न्यायाधीश अरविंद कुमार ने वाड्रा को छह फरवरी को ईडी के समक्ष पेश होने और जांच में सहयोग करने का निर्देश दिया था

लंदन में सम्पत्ति खरीदने से जुड़ा मामला

बता दें कि पूरा मामला लंदन स्थित एक सम्पत्ति खरीदने से जुड़ा है, जिसके मालिक कथित तौर पर वाड्रा हैं। लंदन के 12, ब्रायनसेट स्क्वायर स्थित इस सम्पति की कीमत 19 लाख पाउंड है। प्रवर्तन निदेशालय लंदन में 1.9 मिलियन पौंड की संपत्ति खरीद पर मनीलांड्रिंग के आरोपों की जांच कर रहा है। एजेंसी का दावा है कि यह वाड्रा की संपत्ति है। जबकि, कांग्रेस ने वाड्रा के खिलाफ ईडी की जांच को सत्ताधारी एनडीए सरकार की तरफ से एक राजनीतिक प्रतिशोध करार दिया है। कांग्रेस ने यह भी आरोप लगाया है कि मोदी सरकार जांच एजेंसी का इस्तेमाल अपने फायदे के लिए कर रही है।

राहुल गांधी और राबर्ट वाड्रा अपराधीः संबित पात्रा

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बुधवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि विपक्षी दल के मुख्यालय के बाहर लगे पोस्टर पर दो अपराधियों की तस्वीर लगी है, जिसमें एक नेशनल हेराल्ड मामले में जमानत पर बाहर है और दूसरे से प्रवर्तन निदेशालय मनी लांड्रिंग के सामने पेश हुआ है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जमानत पर बाहर हैं तो वहीं वाड्रा मनी लांड्रिंग के मामले में फंसे हैं। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार कांग्रेस पार्टी के एजेंडे में है। पात्रा ने आरोप लगाया कि वाड्रा की जो 8-9 संपत्तियां लंदन में हैं, उनमें से एक 2009 में पेट्रोलियम डील के लिए कमीशन में मिली थी।

इसके शेयर जिनटेक्स कंपनी से स्काइलाइट कंपनी में शेयर किए गए थे। इसके साथ भी उन्होंने यह भी आरोप भी लगाया कि दिल्ली के मालचा मार्ग में भी वाड्रा की एक संपत्ति है, जिसके बारे में कम ही लोगों को पता है। उन्होंने कहा कि ये प्रॉपर्टी जगदीश शर्मा के नाम पर है और वह वाड्रा के करीबी हैं। बाद में इस संपत्ति को एमजीआर-एमजीएफ को दिया गया जो अगस्ता वेस्टलैंड मामले में आरोपित हैं। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि 2019 की जंग भ्रष्टाचारियों के समूह और पारदर्शी शासन के बीच में होने वाली है।  आँका बताया है।

Back to top button
E-Paper