Varanasi news :अंतरराष्ट्रीय सुविधाओं से लैस होगा देश का पहला इंटर मॉडल स्टेशन, एक ही छत के नीचे होंगी ये सुविधाएं

वाराणसी. First Inter Model Station in Kashi with international facilities. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के संसदीय क्षेत्र आने वाले दिनों में अंतरराष्ट्रीय सुविधा से लैस होने वाला देश का पहला इंटर मॉडल स्टेशन (IMSK) बन जाएगा। एक लंबे अंतराल के बाद राजघाट क्षेत्र में प्रस्तावित इंटर मॉडल स्टेशन प्रोजेक्ट का काम काशी में शुरू हो गया है। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने काशी की सबसे बड़ी परियोजना को मूर्त रूप देने के लिए मसौदा तैयार कर लिया है। तकनीकी विशेषज्ञों ने इसकी प्रारंभिक डिजाइन तैयार कर ली है। इसके आधार पर डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की जा रही है। काशी रेलवे स्टेशन को केंद्र बनाकर प्रोजेक्ट को आकार दिया जाएगा। इसमें एक ही छत के नीचे जल, नभ और थल की सभी सुविधाएं लोगों को मिलेंगी। यानी स्टेशन पर ही फाइव स्टार होटल के साथ अर्बन हॉट और सभी यात्री सुविधाएं होंगी। इसके लिए काशी स्टेशन के आसपास की 40 एकड़ जमीन को चिन्हित कर उसका डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाया गया है। काशी क्षेत्र की यह अब तक की सबसे बड़ी परियोजना होगी जिसे पूरा करने के लिए लगभग तीन हजार करोड़ का खर्च प्रस्तावित है।

17 मीटर ऊंची होगी तीसरी मंजिल

वाराणसी का काशी स्टेशन अब इंटर मॉडल स्टेशन काशी कहलाएगा। नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने अपनी पुरानी योजना का नए सिरे से डीपीआर तैयार कर लिया है। तीन हजार करोड़ की यह परियोजना 40 एकड़ जमीन में पूरी की जाएगी। इसमें ग्राउंड पर इंट्रा सिटी बस टर्मिनल होगा। यहां से शहर से चलने वाली बसों का आवागमन होगा। शहर को जाम से निजात दिलाने के लिए कैंट बस स्टेशन को भी यहीं शिफ्ट किए जाने की योजना है। एनएचएआई वाराणसी के तकनीकी प्रबंधक ललित कुमार सिंह के अनुसार करीब 17 मीटर की ऊंचाई पर तीसरे मंजिल पर इंटर स्टेट बस सर्विस की सुविधा रहेगी। इंटर मॉडल स्टेशन काशी में सीधे आने-जाने के लिए एलिवेटेड फ्लाईओवर, रेलवे स्टेशन और अंतरराज्यीय बस टर्मिनल के लिए अलग रास्ता होगा। इस प्रोजेक्ट में खिड़किया घाट को भी जोड़ा जाएगा क्योंकि हेलीकॉप्टर सेवा के लिए बन रहे दो हेलीपैड भी इंटर मॉडल की परिधि में शामिल होंगे।

वॉटर ट्रांसपोर्ट के लिए बनेगा रास्ता

एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर आरएस यादव के मुताबिक इंटर मॉडल स्टेशन के जरिये आईएसएस स्टेशन को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाया जाएगा। प्रोजेक्ट के सेकंड फेज में आईएसबीटी के ही लेवल पर गंगा फेसिंग पर थ्री स्टार और फाइव स्टार होटल बनेगा। काशी स्टेशन पर ट्रेनों के ठहराव के लिए दो अतिरिक्त प्लैटफॉर्म बनाए जाएंगे। पैसेंजर ट्रेनों के लिए यार्ड भी बनेगा। अर्बन हाट के लिए एक बड़ी जगह होगी, जहां आजीविका के लिए रोजाना वेंडर्स अपना सामान बेचेंगे।

Back to top button
E-Paper