VIDEO : पीएम मोदी ने हॉकी टीम के कप्तान और कोच से बात की, कहा-आपने इतिहास रच दिया

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने ओलिंपिक में इतिहास रच दिया। 41 साल बाद मेडल का सूखा खत्म करते हुए कैप्टन मनप्रीत की टीम ने बेल्जियम को 5-4 से मात देते हुए ब्रॉन्ज मेडल पर कब्जा कर लिया। इसके बाद देशभर में जश्न और बधाइयों का दौर शुरू हो गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टोक्यो में मौजूद टीम से जीत के तुरंत बाद मोबाइल पर बात की। पढ़िए, मोदी की प्लेयर्स से पूरी बात…

PM मोदी: मनप्रीत बहुत-बहुत बधाई। आपको और आपकी पूरी टीम को बधाई। आपने बहुत गजब किया है और पूरा देश आप पर नाज कर रहा है। फिर भी आपकी आवाज बहुत धीमी आ रही है।

मनप्रीत: आपके मोटिवेशन ने हमारी टीम के लिए बहुत काम किया है।

PM मोदी: आप लोगों की मेहनत काम कर रही है। आपके कोच ने भी आपके साथ बहुत मेहनत की है। मेरी तरफ से सभी खिलाड़ियों को बधाई दे देना भैय्या। आप सभी 15 अगस्त को मिल रहे हैं मैंने सबको बुलाया है। आपके कोच हैं साथ में क्या?

मनप्रीत: जी हैं।

कोच ग्राहम रीड: उम्मीद है कि हमने आपको गौरवान्वित किया होगा। सेमीफाइनल के बाद आपकी हमसे बातचीत और आपके शब्द हमारे लिए बहुत प्रेरणादायक रहे।

PM मोदी: बधाइयां-बधाइयां। आपने इतिहास रचा है। मेरे शब्द नहीं, आप लोगों के कड़े परिश्रम का ये नतीजा है।

मनप्रीत बोले- प्रेशर को एन्जॉय किया और नेचुरल गेम खेला

मैच के बाद कैप्टन मनप्रीत ने मीडिया से बात की। मनप्रीत ने कहा कि मुझे लगता है इस ओलिंपिक में खिलाड़ियों ने बहुत मेहनत की है और वे मेडल डिजर्व करते हैं। खुशी जाहिर करने के लिए शब्द नहीं हैं मेरे पास। श्रीजेश ने कहा था कि ये प्रेशर वाला मैच है। हमें एन्जॉय करना चाहिए और नेचुरल गेम खेलना चाहिए। अगर मेडल और प्रेशर के बारे में ज्यादा सोचेंगे तो परफॉर्म नहीं कर पाएंगे। हमें अपना बेस्ट देना था और हमने यही किया। शुरुआत से लेकर आखिर तक हम लोगों ने हार नहीं मानी। प्रेशर को एन्जॉय किया।

महिला टीम से भी की थी फोन पर बात
प्रधानमंत्री ने महिला टीम की कैप्टन रानी रामपाल और ज्योर्ड मरिज्ने से भी फोन पर बात की थी। उन्होंने कहा था कि आप बहुत काबिल हैं और आपको भविष्य की ओर देखना चाहिए। जीत और हार जीवन का हिस्सा होते हैं। आपको इस मौके पर निराश नहीं होना चाहिए। महिला टीम सेमीफाइनल में अर्जेंटीना के खिलाफ एक गोल से हार गई थी। हालांकि, अभी महिला टीम से भी मेडल की उम्मीदें खत्म नहीं हुई हैं। अब वो ब्रॉन्ज के लिए ब्रिटेन से शुक्रवार को भिड़ेगी।

Back to top button
E-Paper