विजय माल्या बैंकों का पैसा चुकाने के लिए तैयार…

विजय माल्या ने एक पत्र लिखकर बैंकों का पैसा चुकाने की बात कही है। माल्या पर 17 बैंकों का 8,191 करोड़ रुपए बकाया है।

नई दिल्ली। बैंकों के कई हजार करोड़ लेकर देश लंदन में रहे भगोड़े कारोबारी विजय माल्या ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री को लिखी चिट्ठी में उनको लेकर सरकार के रुख पर निराशा जाहिर की है। करीब एक साल पुराने इस पत्र को माल्या ने सार्वजनिक कर अपना पक्ष सामने रखा है।  माल्या ने कहा है कि वह बैंकों का बकाया देने की लगातार कोशिश में हैं लेकिन उसे बैंकों से फ्रॉड करने वाले पोस्टर बॉय की तरह पेश किया जा रहा है और छवि ऐसी बनाई जा रही है कि मेरे नाम से ही लोग भड़क जा रहे हैं।

15 अप्रैल 2016 का है खत

15 अप्रैल 2016 का है खत

माल्या ने सार्वजनिक किए खत में कहा है कि उन्होंने प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री को 15 अप्रैल 2016 को पत्र लिखा था लेकिन उनको इसका कोई जवाब नहीं दिया गया। अब मैं चीजों को साफ करने के लिए इन पत्रों को सार्वजनिक कर रहा हूं। विजय माल्या ने लिखा है कि बैंको का दावा ब्याज की रकम को लेकर है, लोन की रिकवरी सिविल मैटर है लेकिन उसके खिलाफ आपराधिक मामला बनाया गया है। इस चिट्ठी में माल्या ने कहा है कि कहा कि वो इस सबसे थक चुका है। विजय माल्या ने कहा है कि सीबीआई और ईडी उसपर आपराधिक चार्ज लगा रहे हैं जो कि उसके खिलाफ एजेंडा है। कर्ज चुकाने की कोशिश कर रहा हूं लेकिन राजनैतिक व्यवधान होगा तो फिर कुछ नहीं कर पाउंगा।

मेरे खिलाफ दायर चार्जशीट झूठी

मेरे खिलाफ दायर चार्जशीट झूठी

माल्या ने कहा है कि नेता और मीडिया मुझपर आरोप लगा रहे हैं कि मैं किंगफिशर एयलाइंस को दिया 9,000 करोड़ लेकर भाग गया। यहां तक कि कर्ज देने वाले कुछ बैंकों ने मुझे विलफुल डिफॉल्टर भी घोषित कर दिया है। वहीं सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सरकार और बैंकों के इशारों पर उसके खिलाफ अपुष्ट और झूठी चार्जशीट दायर की हैं।

कार्रवाई से मुझे निराशा:

माल्या माल्या ने कहा कि ईडी ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट के तहत मेरी, मेरी कंपनियों, और मेरे परिवार के मालिकाना हक वाली 13,900 करोड़ रुपए की संपत्तियां जब्त करने की कार्रवाई हुई। माल्या ने कहा कि मैं सम्मानपूर्वक कहता हूं कि मैंने सरकारी बैंकों के बकाए वापस करने के पूरे प्रयास किए हैं लेकिन इस पर हुई राजनीति ने अड़चन पैदा की है। शराब कारोबारी विजय माल्या पर 17 बैंकों का करीब 8,191 करोड़ रुपए बकाया है और वो 2016 में यूके भाग गया था। लोन और मनी लॉड्रिंग केस में माल्या भारत में वांछित है।

Back to top button
E-Paper