तहसील मिहींपुरवा में लगातार कोरोना संक्रमित मिलने से दहशत में है ग्रामीण

पहले शोभापुरवा फिर गायघाट व सर्रामुंदरी गांव में आया था कोरोना का   मामला

शोभापुरवा निवासी कोरोना संदिग्ध व्यक्ति की पुन: भेजी गयी जांच रिपोर्ट आयी नेगेटिव। उर्रा ग्रामीणो‌ ने ली राहत की सांस

अब गायघाट व सर्रामुंदरी में संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आये व्यक्तियों के रिपोर्ट का इंतेज़ार

मोतीपुर/बहराइच l कोरोना जैसी भयंकर महामारी के बीच तहसील मिहींपुरवा के शोभापुरवा, गायघाट व सर्रामुंदरी में कोरोना पाज़िटिव पेशेंट मिलने से क्षेत्र के ग्रामीणों में दहशत व्याप्त है।
पिछले दिनों हरियाणा के गुरूग्राम से  वापस लौटे मजदूर के कोरोना पाज़िटिव होने की सूचना मिली थी जिसके बाद से गायघाट शोभापुरवा को हाट स्पाट घोषित कर दिया गया था। इस घटना के तुरंत बाद सूरत से  वापस लौट‌ रहे गायघाट के दो व्यक्तियों के कोरोना संक्रमित होने की सूचना आ गई जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गायघाट पहुंच इन कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के साथ वापस लौटे अन्य मजदूरों का सैंपल ले उसे जांच हेतु भेजा।  इसके पश्चात अगले दिन तहसील के सर्रामुंदरी गांव में एक केस अौर निकल आने से क्षेत्र पूरे तहसील क्षेत्र में हड़कम्प मच गया।


तहसील प्रशासन से लेकर पुलिस प्रशासन ने सक्रिय भूमिका निभाते हुये  कस्बो में लगने वाली बाजारो पर चौकसी तेज कर दी। उपजिलाधिकारी मिहींपुरवा ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी ने व्यापार मंडल मिहींपुरवा के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर कोरोना जंग में पूरा सहयोग देने के साथ साथ‌ सभी को सोसल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दे डाले।


इन सबके बीच उर्रा ग्राम के शोभापुरवा में मिले कोरोना संक्रमित व्यक्ति की दूसरी रिपोर्ट नेगेटिव आने से क्षेत्र के लोगो को थोड़ी राहत मिली है इसी के साथ गायघाट व सर्रामुंदरी में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आये लोगों की रिपोर्ट का अभी इंतेज़ार है। तहसील के ग्रामीणो का कहना है कि जब यहां से भेजी गयी सभी  रिपोर्ट नेगेटिव आ जाए तब जाकर राहत की सांस ली जा सकती है। ईश्वर न करे यदि किसी की भी रिपोर्ट पाज़िटिव आयी तो क्षेत्र के लोगो‌ को‌ काफी दुश्वारियों का सामना करना पड़ सकता है।

Back to top button
E-Paper