खाद्यान्न लेने पहुंचे ग्रामीणो को‌ अनाज की बोरी में मिले कंकड़ पत्थर ‌व मौरंग

करोना आपदा के समय बेरोजगारी की मार झेल रहे ग्रामीणों को अब मिलावट खोरो की मार।

भारी मात्रा में कंकड़ पत्थर व मौरंग देख बिफरे ग्रामीण । किया प्रदर्शन।

मोतीपुर/बहराइच l विकासखंड  मिहींपुरवा अंतर्गत चहलवा ग्राम सभा में खाद्यान्न लेने पहुंचे ग्रामीणों के लिए जब कोटेदार ने राशन के बोरों को खोला तो बोरों में अनाज के साथ-साथ मोरंग, गिट्टी व पत्थर को देख ग्रामीणों के होश उड़ गये ।भारी मात्रा में मिलावटखोरी देख ग्रामीण बिफर गये। ग्रामीणो ने मौके पर ही प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी व प्रदर्शन शुरू कर दिया।


रविवार को चहलवा ग्रामसभा में हो रहे सरकारी खाद्यान्न वितरण में ग्रामीण अपना अपना राशनकार्ड जमा करके अपनी बारी का इंतजार करने लगे जैसे ही कोटेदार ने गेहूं की बोरी खोला तो उसके अंदर भारी मात्रा में  बड़ी-बड़ी गिट्टी, कंकरीट व मौरंग देख ग्रामीणों ने खाद्यान लेने से इंकार कर दिया तथा मिलावट खोरो के खिलाफ नारेबाजी व प्रदर्शन करने लगे। 


ग्रामीणों का कहना है कि हमलोगो को प्रति कार्डधारक 2 किलो राशन कम तौल के देता है उसके बावजूद जो खाद्यान्न हमें मिल रहा है उसमें भी यदि आधे कंकड़ व पत्थर हो तो हमारे पास खाने योग्य राशन नाम मात्र ही बचेगा। ग्रामीणो‌ का कहना है कि अपने हक पर डाका हम किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नही करेंगे।


चहलवा के कोटेदार माताप्रसाद ने बताया कि चहलवा ग्राम सभा में 1833 कार्डधारक है जिन को खाद्यान्न वितरण करने के लिए राशन के बोरे आये थे। कोटेदार ने कहा कि ग्रामीणो को खाद्यान वितरण हेतु जब गेहूं के बोरे खोले गये तो कई बोरो में गेहूं के साथ साथ कंकरीट व मौरंग मिले हुये निकले। गोदाम प्रभारी आरडी प्रसाद ने कहा कि खाद्यान्न की बोरी पैक होकर बाहर से आती है उसके बाद भी यह प्रयास होता है कि जो बोरिया खराब हो उन्हें गोदाम से ही वापस कर दिया जाये। खाद्यान्न वितरण के समय जो बोरिया गड़बड़ पायी गयी है उन्हे वापस मंगवाया गया है उन्हे वापस कर  बदला जायेगा। ग्रामीणों ने बताया कि मामले की जानकारी उपजिलाधिकारी मिहींपुरवा को दी जा चुकी है उन्होंने कार्यवाही का आश्वासन दिया है।

Back to top button
E-Paper