घाघरा व राप्ती से दो दर्जन गांव घिरे, आवागमन बाधित

गोपाल त्रिपाठी
गोरखपुर। जनपद के दक्षिणांचल स्थित बडहलगंज के  कछार क्षेत्र में दो दर्जन गांव राप्ती व घाघरा के बाढ के पानी से घिर गए है। दोनों नदियां प्रभावित गांवों के संपर्क मार्गो से होकर बह रही हैं। जिसके चलते आवागमन बाधित हो गया है। बाढ की विभीषिका को देखते हुए ग्रामीण अपने सामानों के साथ सुरक्षित स्थान की ओर पलायन करने की तैयारी में जुट गए हैं।
  नेपाल द्वारा पानी छोडे जाने के बाद से राप्ती व घाघरा नदी के जलस्तर में बेतहाशा बढोत्तरी हुई है। दोनों नदियां खतरे के निशान के करीब पहुंच गई हैं। घाघरा की बाढ से ग्राम पटना, कोलखास, रामनगर, ज्ञानकोल, बगहा, मुसाडीह, बगहा देवार, खैराटी, दिस्तौलिया, नेतवार पट्टी, भयपुरा, बरडीहा, गोनघट, बल्थर, अजयपुरा, कोटिया निरंजन, सरया, सीधेगौर, खडेसरी आदि गांव बाढ की चपेट में आ गए है। वहीं राप्ती से जगदीशपुर, सुवेदारनगर माझा, लखनौरी, लखनौरा, मछरगावा, हिगुंहार, मोहन पौहरिया, मोहवा, बिहुआ, अगिलगौवा, पौहरिया, खोहिया पट्टी की दलित बस्ती पानी से घिर गया है।
संपर्क मार्गों पर पानी चढने से आवागमन बाधित
हिंगुहार-खोहिया पट्टी, बैरियाखास, अगिलगौवा मार्ग पर पानी चढ गया। जिससे गांव का संपर्क मुख्य मार्ग से कट गया है। जगदीशपुर व पौहरिया में नदी कटान भी कर रही है।
Back to top button
E-Paper