जय श्री राम के नारे पर बंगाल में फिर हिंसा, पुलिस ने चलाईं गोलियां, तीन जख्मी

कोलकाता । लोकसभा चुनाव के बाद राज्यभर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ताओं के खिलाफ हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। राज्य के दो जिलों में शनिवार देर रात भाजपा के एक कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई, जबकि तीन कार्यकर्ताओं को जय श्रीराम बोलने पर पुलिस ने कथित तौर पर गोली मार दी। उन सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के संबंध में पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है, लेकिन अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।
भाजपा ने दावा किया है कि राज्य की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस पार्टी (टीएमसी) के निर्देश पर ही पुलिस ने गोली मारी थी। इस घटना के संबंध में रविवार को बांकुड़ा पुलिस अधीक्षक से संपर्क करने पर उन्होंने न तो फोन उठाया और न ही मैसेज का जवाब दिया।
पहली घटना बांकुड़ा जिले के विष्णुपुर की है। भाजपा की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि शनिवार रात विष्णुपुर के भाजपा मंडल की ओर से आयोजित कार्यक्रम के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने विरोध-प्रदर्शन करते हुए जय श्रीराम का नारा लगाया था। इसके बाद पुलिस ने तीन कार्यकर्ताओं को कथित तौर पर निशाना बनाकर गोली मारी दी। इसमें सोमेन बाउरी नामक 14 वर्षीय एक किशोर गंभीर रूप से घायल हुआ है, जो जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहा है, जबकि दो अन्य लोगों का ऑपरेशन कर गोली निकाल दी गई है। दोनों खतरे से बाहर हैं।
दूसरी घटना पश्चिम मेदिनीपुर जिले के घाटाल लोकसभा क्षेत्र की है। घटाल पूर्व मंडल के बंगालीतला गांव में शनिवार रात 163 नंबर बूथ के सक्रिय भाजपा कार्यकर्ता को तृणमूल कार्यकर्ता घर से उठा ले गए और हत्याकर शव को पेड़ पर लटका दिया।
पार्टी की ओर जारी बयान में बताया गया है कि मृतक अजय मंडी (22) के शरीर पर जख्म के कई निशान मिले हैं।
उल्लेखनीय है कि गत गुरुवार ही उत्तर 24 परगना में हुई हिंसा में भारतीय जनता पार्टी के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उसके बाद क्षेत्र में एक और कार्यकर्ता को शुक्रवार को पीट-पीटकर मारा डाला गया।
Back to top button
E-Paper