जागो उपभोक्ता: स्टार रेटिंग का एसी खरीद रहे हैं तो रहे सावधान, हो सकता है धोखा

गाजियाबाद। यदि आप बिजली बचाने के उद्देश्य से स्टार रेटिंग वाला एयर कंडीशनर (ए सी) या अन्य कोई इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद खरीदने जा रहे हैं तो सावधान हो जाइए। आप उत्पाद पर लगे स्टार रेटिंग के स्टिकर पर बिल्कुल विश्वास ना करें क्योंकि आपके साथ धोखा हो सकता है । अतः आप एयर कंडीशनर फ्रीज आदि खरीदने से पहले संबंधित कंपनी व उसके उत्पाद की गहराई से जांच परख करें ताकि आपके साथ कोई धोखा ना हो ।
जी हां ऐसा ही एक मामला गाजियाबाद में प्रकाश में आया है। जिसमें कवि नगर सी ब्लॉक निवासी उपभोक्ता ने एक नामी ग्रामी बहुराष्ट्रीय चाईनीज कंपनी ग्री(gree) का स्प्लिट ए सी खरीदा । उन्होंने ए सी पर लगे फाइव स्टार रेटिंग स्टिकर पर भरोसा कर लिया लेकिन जब देखा कि कंपनी ने ए सी के चलने पर जितनी खपत बताई थी उससे कहीं ज्यादा बिजली की खपत हो रही थी। तो उनका माथा ठनका और उन्होंने इसकी जांच पड़ताल अपने स्तर पर शुरू की। उन्होंने इस सम्बंध में ऊर्जा दक्षता ब्यूरो(बीईई) में आरटीआई डाली तो उनका जवाब देखकर वह दंग रह गए। आरटीआई में जवाब दिया गया कि उत्पाद से सम्बंधित कम्पनी हिटलर ब्रदर्स द्वारा बेचा जा रहा यह उत्पाद न तो बीईई में पंजीकृत है और न ही अप्रूवड है।
मुदित ने बताया कि उन्होंने 31 जनवरी 2020 को हिटलर ब्रदर्स कम्पनी के गाजियाबाद स्थित डीलर सलूजा ओवरसीज प्राइवेट लिमिटेड से ग्री ब्रांड का डेढ़ टन का एक स्प्लिट एसी खरीदा था। जिसका मूल्य 30 हजार रुपये था। मुदित ने बताया कि इस एयर कंडीशनर पर 5स्टार रेटिंग का स्टीकर भी लगा था। उन्होंने बताया कि जब उन्होंने एयर कंडीशनर को घर आकर चलाया तो बिजली कंपनी द्वारा बताए गए 5 रेटिंग स्टार से कहीं ज्यादा खर्च कर रहा था। उन्होंने इस संबंध में जांच पड़ताल की तो चौंकाने वाले तथ्य सामने आए,उन्होंने कहा कि विदेश से लाए जाने वाले इलेक्ट्रिक उत्पाद एसी रेफ्रिजरेटर आदि पर स्टार रेटिंग जरूरी है।
मुदित ने बताया कि उन्होंने बीईई के अलावा प्रधानमंत्री कार्यालय में भी इसकी शिकायत की जिसका जवाब आया है कि ऊर्जा दक्षता ब्यूरो ने इस संबंध में उत्पाद से संबंधित कंपनी हिटलर ब्रदर्स के विरुद्ध आवश्यक करवाई दक्षता ब्यूरो को भेज दिया गया है।
मुदित ने आगे बताया कि सन् 2018 में ऊर्जा विभाग द्वारा स्टार रेटिंग्स की गुणवत्ता बदली गई थी और अगर कोई कम्पनी अपने एसी को बीईई से रजिस्टर न करके मनमर्ज़ी स्टीकर लगाकर ग्राहकों को बेचे यानि 3 स्टार के एसी पर 5 स्टार का स्टीकर लगाए तो यह ग्राहकों के साथ धोखा ही नहीं बल्कि उनसे 4-5 हजार रुपये प्रति एसी ज्यादा लूटकर उपभोक्ता से ठग रहे है।
सम्बंधित कंपनी के डीलर राजा सलूजा का कहना है कि उनके संज्ञान में जब यह मामला आया था तो उन्होंने कम्पनी से आया सारा माल वापस कर दिया है। अब वह माल नही बेच रहे हैं।
वही उद्योग व्यापार मंडल के महानगर अध्यक्ष गोपीचंद का कहना है कि यह मामला काफी गम्भीर है। ऐसी कम्पनी के खिलाफ करवाई होनी चाहिए ।

Back to top button
E-Paper