जिसने भी बजरंगबली बाबा के इन मंत्रो का किया जाप, मौत भी बदल देगी अपना रास्ता

आज के समय ऐसा कोई भी नहीं जिसे पैसे की जरुरत नहीं, दिन रात इन्सान अच्छे सुख सुवधा के लिए इन्सान पैसे कमाता और महनत करता है. मगर हर इन्सान की एक जैसी किस्मत नहीं होती. मगर आज हम आपको ऐसा सरल उपाय बताने जा रहे जिससे आप भी मालामाल बन सकते है. हर इंसान की श्रद्धा ईश्वर पर होती है और इसी विश्वास के कारण वह सभी ईश्वर की अराधना करते हैं। भगवान भी सबकी सुनते हैं और वह अपने भक्तों की सभी मनोकामनाओं को पूरी करते हैं लेकिन वह व्यक्ति सच्चे दिल से ईश्वर की आराधना करता है तो उसे बहुत अच्छा फल मिलता है जिसकी वह कल्पना भी नहीं कर सकता है।

हनुमान जी ने रामायण काल में श्रीराम जी की सेना का संचालन किया था, और महाभारत काल में भीम को हनुमान जी ऐसे समय में मिले जब महाभारत युद्ध की संभावना बनने लगी थी। उस समय हनुमान जी ने भीम को वचन दिया था कि युद्ध के समय वह अर्जुन के रथ पर रहेगें और विजयी बनाने में सहायक रहेगें। हनुमान जी की दोनों में महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

(अधिक जानकारी के लिये नीचे दी वीडियो को देखे)

 

धर्म ग्रन्‍थों के अनुसार हनुमान जी ऐसे देवता है जिनका मन मे स्‍मरण करने मात्र से भक्‍तो के सारे संकट दूर हो जाते है, हनुमान जी उपासना से बुद्धि, यश, शौर्य, साहस और आरोग्यता में वृद्धि होती है। हनुमान जी कुपा पाने और सभी परेशानियो से छुटकारा पाने का एक अचूक उपाय हनुमान चालीसा और बजरंग बाण का पाठ करने से सभी सुख मिलते है, और धन की प्राप्ति होती है, जिससे लोगो की किस्‍मत का सितारा चमक जाता है,

 

 

जैसा कि आप लोग जानते है कि अगर घर परिवार मे किसी प्रकार का कष्‍ट क्‍लेश व अशांति है तो घर पर सुंदर कांड का अध्‍ययन करना चाहिय जिससे घर मे शांति बनी रहेगी,  सुंदरकांड श्रीरामचरितमानस का चौथा अध्याय है यह श्रीरामचरितमानस का सबसे अधिक पढ़ा जाने वाला भाग है क्योंकि इसमें हनुमान जी के बल, बुद्धि, पराक्रम व शौर्य का वर्णन किया गया है। सुंदरकांड के पढऩे व सुनने से मन में एक अद्भुत ऊर्जा का संचार होता है। सुंदरकांड के हर दोहा, चौपाई व शब्द में गहन अध्यात्म छुपा है, जिससे मनुष्य जीवन की हर समस्या का सामना कर सकता है। सुंदरकांड के पाठ से बहुत ही जल्द हनुमान जी प्रसन्न हो जाएंगे और आपको मालामाल कर देंगे।

 

जैसाकि आप लोग जानते है कि मंगलवार के दिन नहाने के बाद हनुमान जाप करने से संकटमोचन जीवन मे आ रहे हर संकट का अंत करेगे, स्‍नान करने के बाद हनुमान जी के मंदिर मे उनकी प्रतिमा के सामने बैठकर श्रीराम जी की प्रणाम करे, फिर “ॐ श्री हनुमते नम:” मंत्र का जाप करें। प्रतिदिन इस मंत्र का रुद्राक्ष की माला पर कम से कम एक माला जाप करें। यह मंत्र अनेक बाधाओ और नकारात्‍मक शाक्तियो से रक्षा करती है, जिस घर या परिवार मे हनुमान जी की पूजा या मंत्र का जाप होता है वहां पर टोने टोटके और काले जादू का कोई प्रभाव नही पडता है,

Back to top button
E-Paper