लखनऊ : एएसपी की बहन बताने वाली महिला का HIGH VOLTAGE DRAMA, तोड़ दी गार्ड की उंगली

लखनऊ : मैं एएसपी की बहन हूं, मेरी गाड़ी यहीं पर खड़ी रहेगी। यह शब्द एक पुलिस अधिकारी की बहन बताने वाली महिला के हैं। जिसे एसएसपी बंगले के सामने स्थित शोरूम के गार्ड ने सड़क पर खड़ी कार को पार्किंग में करने के लिए कहा।

गार्ड ने ज्यादा दबाव बनाया तो उसकी पिटाई शुरू कर दी। जिससे उसकी एक उंगली टूट गई। हंगामे की खबर सुनकर पुलिस भी पहुंची। थाने जाने के बाद मामला रफा-दफा हो गया। हंगामा होने के कारण आधे घंटे तक पूरा इलाका जाम की चपेट में आ गया था।

बृहस्पतिवार दोपहर को एसएसपी बंगले के सामने हलवासिया चौकी क्षेत्र में स्थित एक ज्वेलरी  शोरूम के सामने महिला ने जमकर हंगामा किया।महिला खुद को पुलिस विभाग में तैनात एएसपी की बहन बता रही थी।

वह ज्वेलरी शोरूम के गार्ड पर भड़की थी। देखते-देखते उसने उसकी पिटाई शुरु कर दी। किसी तरह वहां से अपनी जान बचाकर वह शोरूम की तरफ भागा। महिला उसका पीछा करते हुए शोरूम के गेट पर रखे हुए गार्ड के डंडे से उसकी पिटाई शुरू कर दी। हंगामे के कारण भीड़-भाड़ वाले सड़क पर जाम लग गया। जाम व हंगामे की सूचना पर पहुंची पुलिस ने महिला व गार्ड को थाने भेजा।

मूलरूप से हरदोई के रहने वाले सेना से रिटायर जगन्नाथ सिंह एक निजी सुरक्षा एजेंसी में गार्ड हैं। उनकी तैनाती एसएसपी बंगले के सामने एक ज्वेलरी शोरूम में है। जगन्नाथ सिंह के मुताबिक दोपहर करीब एक बजे एक महिला ने शोरूम के सामने सड़क पर कार खड़ी कर पानी बतासा खा रही थी।

इसी बीच यातायात पुलिस की क्रेन पहुंची और नो पार्किंग का हवाला देकर कार उठाने लगी। महिला ने हंगामा शुरू कर दिया। उसने क्रेन चालक को धमकी दी कि वह एएसपी की बहन है। इसके साथ ही कार को शोरूम के सामने खड़ा कर दिया।

जिससे आने जाने का रास्ता बंद हो गया। यह देख गार्ड जगन्नाथ उसे कार पार्किंग में खड़ी करने को कहने गया। महिला उससे भिड़ गई। दोनों के बीच कहासुनी होने लगी। इसी बीच महिला ने गुस्से में गार्ड पर हमला बोल दिया। सड़क पर महिला के हाथों गार्ड को पीटता देख भीड़ जुटने लगी।

गार्ड किसी तरह खुद को बचाता हुआ शोरूम की तरफ भागा। महिला उसके पीछे शोरूम के गेट तक आई। वहां रखे डंडे से उसकी धुनाई कर दी। जिससे उसके हाथ एक उंगली भी टूट गई। रास्ता पूरी तरह से जाम हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों को थाने पहुंचाया।

महिला के अर्दब में आई पुलिस ने कराया समझौता

थाने पहुंचने पर भी महिला का अंदाज नहीं बदला। उसने थाने पर तैनात पुलिसकर्मियों को अर्दब में ले लिया। उसने बताया कि वह एक एएसपी की बहन है। तो पुलिसकर्मी भी ठंडे पड़ गये। पुलिस ने गार्ड पर दबाव बनाते हुए समझौता करा दिया।

जगन्नाथ के साथी उसे लेकर अस्पताल गये। जहां डॉक्टरों के पड़ताल में उसकी उंगली टूटी हुई थी। डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया। प्रभारी निरीक्षक राधारमण सिंह ने बताया कि मामला पार्किंग को लेकर था। दोनों पक्षों ने समझौता कर लिया।

Back to top button
E-Paper