योगी सरकार ने पेश किया 34 हजार 833 रूपये का अनुपूरक बजट….

लखनऊ  देवरिया बालिका गृह कांड को लेकर विपक्ष के हंगामे और नारेबाजी के बीच उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य विधानमंडल के मानसून सत्र के दूसरे कार्यदिवस सोमवार को 34833़ 244 करोड़ रूपये का अनुपूरक बजट पेश कर दिया।

राज्य विधानसभा में वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने चालू वित्तीय वर्ष के लिये सरकार का पहला अनुपूरक बजट पेश किया, वहीं विधान परिषद में नेता सदन एवं उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने बजट प्रस्ताव उच्च सदन के पटल पर रखा। विपक्ष के हंगामे के कारण विधानसभा की कार्यवाही को दो बार स्थगित करना पडा। सपा और कांग्रेस के सदस्य देवरिया कांड की जांच उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश से कराने की मांग पर अडे हुये थे।

बजट प्रस्तावों में जेवर में अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा, बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे, रक्षा गलियारा, गन्ना किसानों के भुगतान और कुंभ मेला को खास तरजीह दी गयी है। अनुपूरक बजट और विधेयकों को मंगलवार को मंजूरी मिलने की संभावना है। सरकार ने गन्ना किसानों के भुगतान के लिये बजट में सबसे ज्यादा 5535 करोड रूपये की व्यवस्था की है। चालू वित्तीय वर्ष के पेराई सत्र के दौरान गन्ना किसानों का बकाया 12 हजार करोड रूपये तक पहुंच चुका है।

बजट प्रस्तावों में नगर विकास के लिये 880 करोड़ रूपये , चीनी उद्योग को 5535 करोड़, बिजली के लिये 7864़ 30 करोड, उद्योग विभाग के लिये 600 करोड, ग्राम्य विकास के लिये 806़ 88 करोड रूपये का प्रावधान किया गया है। इसके अलावा 3031़ 89 करोड रूपये पेंशन और भत्तोे के लिये रखे गये हैं जबकि उच्च शिक्षा के लिये 979़ 20 करोड रूपयों का प्रावधान है।

कुंभ पर खास नजर
इस बार बजट में कुंभ मेले के लिए सरकार ने भारी भरकम राशि के आवंटन की घोषणा की है। बजट के अनुसार कुंभ मेले में इंफ्रास्ट्रक्चर डिवेलप और पुलिस सुरक्षा के लिए 850 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। वहीं इससे पहले मूल बजट में कुंभ मेले के लिए 1500 रुपये की राशि आवंटित की जा चुकी है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, जनवरी से मार्च के पहले हफ्ते तक होने वाले दुनिया के सबसे बड़े सांस्कृतिक और अध्यात्मिक आयोजन कुंभ में करीब 12 करोड़ लोग आएंगे। हमारी सरकार ने भारत सरकार के साथ मिलकर योजना तैयार की है।

किसानों का ख्याल
इसके अलावा 2017.18 के बजट में किसानों के लिए कर्जमाफी की घोषणा करने वाली योगी सरकार ने अपने दूसरे अनुपूरक बजट में भी किसानों और गांवों को खुश करने की पूरी कोशिश की है। बजट का एक चौथाई हिस्सा सिर्फ किसानों को समर्पित किया गया है।
सोमवार को विधानसभा में पेश हुए अनुपूरक बजट में 2016.17 और 2018.19 के गन्ना किसानों के भुगतान के लिए करीब 5500 करोड़ रुपये की व्यवस्था की है। इसमें पहली बार 500 करोड़ रुपये सीधे गन्ना किसानों के खातों में डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर डीबीटी के जरिए भेजे जाएंगे। राज्य सरकार ने लोकसभा चुनावों की आहट के बीच वादों से ज्यादा बुनियादी सुविधाओं पर फोकस करता अनुपूरक पेश किया है। इसमें उन योजनाओं पर ज्यादा फोकस हैए जो जनता खासतौर पर गांवों से जुड़ी हैं।

2 अक्टूबर तक हर जिला ओडीएफ घोषित करने का लक्ष्य
अनुपूरक बजट में गन्ना किसानों का बकाया भुगतान करने के साथ.साथ करीब 1500 करोड़ रुपये किसानों कर्जमाफी के लिए दिए हैं। इसके अलावा शौचालय निर्माण के लिए बजट में 5500 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। राज्य सरकार ने 2 अक्टूबर तक प्रदेश के हर जिले को ओडीएफ घोषित करने का लक्ष्य रखा है। इसके अलावा रिटायर हो चुके बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों और शिक्षणेत्तर कर्मचारियों का बकाया भुगतान करने के लिए 700 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है।

इंफ्रास्ट्रक्चर पर भी जोर

अनुपूरक बजट में इंफ्रास्ट्रक्चर पर जोर दिया गया है। बुंदेलखंड में बनने वाले डिफेंस कॉरिडोर में 500 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। इस रकम से डिफेंस कॉरिडोर के लिए जमीन अधिग्रहण किया जाएगा। वहीं जेवर एयरपोर्ट का काम आगे बढ़ाने के लिए 800 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं।

सड़कों के निर्माण के लिए 750 करोड़ रुपये
विधायकों के प्रस्ताव पर सड़क निर्माण में तेजी लाने के लिए भी अनुपूरक में व्यवस्था की गई है। विधायकों के प्रस्ताव पर सड़क निर्माण के लिए 750 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। इस फंड को त्वरित आर्थिक विकास योजना में रखा गया है। गांवों में पुल बनाने के लिए 7ण्90 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है।

अटल बिहारी वाजपेयी की याद में

अनुपूरक बजट में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की स्मृति में सांस्कृतिक समारोह के आयोजन के लिए 1 करोड़ रुपये की स्वीकृति दी गई है। इसके अलावा अटल स्मृति संकुल निर्माण के लिए 4 करोड़ और बटेश्वरए आगरा और अन्य जगहों के विकास के लिए 10 करोड़ रुपए आवंटित किए गए। अनुपूरक बजट में पूर्व प्रधानमंत्री की याद में कानपुर डीएवी कॉलेज को श्सेंटर फॉर एक्सीलेंसश् के तौर पर विकसित करने के लिए 5 करोड़ रुपए आवंटन को स्वीकृति दी गई। इसके अलावा योगी दिवस आयोजन के लिए 8 करोड़ रुपयेए नगर निगम में कान्हा गौशाला के लिए 20 करोड़ रुपये और जेवर एयरपोर्ट के लिए 800 करोड़ रुपये आवंटित हुए।

इन योजनाओं के लिए पहली बार हुआ आवंटन
.डिफेंस कॉरिडोर 500 करोड़ रुपये
.जेवर एयरपोर्ट 800 करोड़ रुपये
.कुंभ मेला 850 करोड़ रुपये
.मुख्यमंत्री आरओ पेयजल योजना 50 करोड़ रुपये
.राज्य स्तरीय फिश मार्केट 96ण्13 लाख रुपये
.ओबीसी छात्रों की छात्रवृत्ति 50 करोड़ रुपये
.कुष्ठावस्था पेंशन 4.70 करोड़ रुपये

 

Back to top button
E-Paper