गुजरहना स्थित हज़रत सैय्यद शाह की दरगाह पर इस वर्ष उर्स के मौके पर नही जुटेंगे ज़ायरीन

कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु दरगाह कमेटी ने लिया फैसला। ज़ायरीनो से उर्स के दिन घर से ही फातिहा पढ़ने की अपील की।

5 जून दिन शुक्रवार को उर्स के मौके पर कमेटी के सदर व सिक्रेटरी मज़ार पर गागर व चादर पेश कर करेंगे परम्परागत निर्वाहन।

       
मोतीपुर/बहराइच l तहसील मिहींपुरवा अंतर्गत थाना मोतीपुर के गुजरहना गांव में स्थित सैयद शाह की दरगाह पर हर वर्ष आयोजित होने होने वाले उर्स मुबारक पर हजारो की संख्या में ज़ायरीनो की भीड़ उमड़ती रही है किंतु वर्तमान में जारी कोरोना संकट को देखते हुये इस वर्ष दरगाह कमेटी की अोर से ज़ायरीनो को‌ उर्स के दिन दरगाह परिसर में आने से मना कर दिया गया है।
रविवार को दरगाह परिसर में सोसल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुये दरगाह कमेटी के सदस्यों की एक बैठक आयोजित की गई।

कमेटी के सदस्यों ने कोरोना संक्रमण से बचाव के मद्देनज़र में सर्वसम्मति से निर्णय लेते हुये आगामी 5 जून को आयोजित होने वाले उर्स को इस बार बिना किसी शोर शराबे व भीड़भाड़ के सादगी पूर्वक सम्पन्न कराने की बात कही।
कमेटी के सदर मुजीब अहमद व सिक्रेटरी ‍अकील अहमद ने अपने संयुक्त बयान में कहा कि आगामी 5 जून दिन शुक्रवार को आयोजित होने वाले उर्स में ज़ायरीनो को‌ आने की अनुमति नही दी गयी है। ज़ायरीनो से उर्स के दिन घर से ही फातिहा पढ़ने की अपील की गयी है। परम्परागत निर्वाहन हेतु सदर व सिक्रेटरी की मौजूदगी में सिर्फ गागर व चादर पेश करेंगे।
इस मौके पर कमेटी के अध्यक्ष मुजीब अहमद, सचिव अकील अहमद, सदस्य कबीर अहमद, अनवार खां, राम गोपाल, बच्चूलाल, मतीन अहमद , जमील अहमद समेत कई लोग मौजूद रहे।

Back to top button
E-Paper