प्रेमिका से पीछा छुड़ाने के लिए शिवसेना नेता ने रची हत्या की साजिश, 1 लाख में कर डाला सौदा फिर…

उज्जैन । चार दिन पूर्व चिंतामण बायपास स्थित पंजाबी ढाबे के सामने एक युवती की कथित सड़क दुर्घटना में मौत के मामले में पुलिस ने शिवसेना के पूर्व पदाधिकारी सुखविंदरसिंह खनूजा और उसके साथियों को गिरफ्तार कर लिया है। मृतक युवती ने पूर्व में सुखविंदर के खिलाफ शादी का झांसा देकर दैहिक शोषण का प्रकरण दर्ज करवाया था। बाद में युवती को पुन: झांसे में लेकर सुखविंदर ने अपनी जमानत करवा ली थी।

इस पूरे मामले का खुलासा करते हुए एसपी सचिन अतुलकर ने बुधवार को बताया कि शिवसेना के पूर्व पदाधिकारी सुखविंदरसिंह खनूजा ने भागसीपुरा निवासी 30 वर्षीय युवती स्वाति भट्ट की दुर्घटना दिखाकर हत्या का नाटक रचा था। एसपी के अनुसार मौके पर सूक्ष्म जांच करने और पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद यह स्पष्ट हो गया था कि स्वाति की मौत एक्सीडेंटल डेथ नहीं थी, उसकी हत्या की गई थी। इसी आधार पर सुखविंदर को हिरासत में लिया गया और पूछताछ की गई। मुख्य षड्यंत्रकारी सुखविंदर निकला। सुखविंदर विवाहित होने के बाद भी स्वाति से अफेयर रखता था।

उसने स्वाति को शादी का झांसा देकर कुछ सालों तक उसका दैहिक शोषण किया। जब उसने स्वाति से शादी नहीं की तो स्वाति ने उसके खिलाफ दुष्कर्म का प्रकरण दर्ज करवाया। कुछ समय बाद उसने स्वाति को पुन: झांसे में लिया और अपनी जमानत करवा ली थी। तभी से वह स्वाति को रास्ते से हटाने की फिराक में था। घटना वाले दिन उसने स्वाति को अपने ढाबे पर मिलने बुलाया।

एसपी के अनुसार स्वाति को मारने के लिए सुखविंदर ने इंदौर के गांधीनगर निवासी पंकज उर्फ भोला को 1 लाख रुपए की सुपारी दी। पंकज इंदौर में मैजिक चलाता है। घटना वाले दिन पंकज इंदौर से समीर उर्फ मोहसीन को अपने साथ मैजिक में उज्जैन लाया और सुखविंदर के ढाबे पर पहुंचा। इधर स्वाति को भी सुखविंदर ने ढाबे पर बुलवाया था। स्वाति को ढाबे के समीप पंकज ने मैजिक से कुचल दिया। पंकज की पत्नी उमा और एक अन्य दोस्त संजय भी इस घटना में षड्यंत्रकारी थे।

पुलिस ने सुखविंदर से पूछताछ के बाद वहीद खान को भी गिरफ्तार कर लिया। जबकि पंकज, उसकी पत्नी उमा और मैजिक में वहीद के साथ आए समीर उर्फ मोहसीन तथा संजू फरार हैं। एसपी के अनुसार सुखविंदर के खिलाफ महाकाल थाना, महिला थाना, कोतवाली तथा इंदौर के विभिन्न थानों में प्रकरण दर्ज हैं।
——

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker