पति को अपने अंडरगार्मेंट्स दिखाकर आकर्षित कर रही थी पड़ोसन, बीवी पहुंच गई थाने, फिर…

अक्सर ऐसे मामले सुनने को मिलते हैं जिनपर यकीन करना तो मुश्किल होता ही है बल्कि हंसी भी आती है। ऐसा ही एक मामले से पुलिस उस वक्त दो चार हुई जब एक महिला फरियाद करते हुए पुलिस स्टेशन पहुंच गई। महिला की फरियाद थी कि पुलिस उसकी पड़ोसन के मायाजाल से उसके पति को बचाए।

क्या है पूरा मामला?

मामला दरअसल ये था कि महिला को इस बात का शक़ था कि उसके पड़ोस में रहने वाली महिला अपने अंदरुनी कपड़े दिखाकर उसके पति को अपनी तरफ आकर्षित कर रही है। महिला की मांग है कि पड़ोसन को गिरफ्तार किया जाए, उसने ये भी शिकायत कि वो उसके घर के सामने ही अपने कपड़े सुखाती है।

कहां का है मामला?

दरअसल ये मामला मेक्सिको का है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, महिला का नाम यूविजा है। उसकी शिकायत है कि उनकी पड़ोसन को गिरफ्तार कर तत्काल जेल में डाला जाए। उसने पुलिस से कहा कि अगर पुलिस ने ऐसा नहीं किया तो उसका घर बहुत जल्दी टूट जाएगा। महिला का आरोप है कि पड़ोसन जान-बूझकर अपने अंडरगार्मेंट्स अपने बगीचे में सुखाती है, ताकि उसका पति उसकी ओर आकर्षित हो सके। इतना ही नहीं महिला ने ये भी दावा किया कि कई बार उसने अंडरगार्मेंट्स उसके पति को दिखाया भी है।

आखिर पड़ोसन क्या चाहती है?

महिला का ये भी कहना है कि उसने अपनी पड़ोसन को कई बार समझाने की कोशिश की है, लेकिन वो मानने को तैयार नहीं है। और वो ऐसा तभी करती है, जब उनके पति की छुट्टी होती है। महिला ने बताया कि वो अपने पति को कुछ बोल नहीं पाती है, उसके पति भी छुट्टियों के दिन घर के आसपास ही टहलते रहते हैं।

अब पुलिस क्या करेगी?

महिला की अजीबोगरीब शिकायत पर पुलिस भी परेशान है कि वो क्या करे, क्योंकि खुले में कपड़े सुखाना तो कोई अपराध नहीं है। पुलिस को समझ ही नहीं आ रहा है कि युविजा और उनकी पड़ोसन के बीच का ये मामला कैसे निपटाए। ये मामला अधिकारियों के पास भेजा गया है। उधर महिला लगातार पुलिस को बता रही है कि जल्द से जल्द इस मामले का समाधान किया जाए, नहीं तो वो कोई कदम उठा लेगी। फिलहाल तो पुलिस की टीम ने महिला को समझाने की कोशिश की है कि पड़ोसन खुले में कपड़े फैलाकर कोई अपराध नहीं कर रही है। इसके अलावा पुलिस ने दोनों महिलाओं को एक साथ बैठकर अपना विवाद सुलझाने की अपील भी की है। जबकि महिला का कहना है कि पड़ोसन को गिरफ्तार किया जाए। पुलिस फिलहाल इस मामले में कुछ नहीं कर पा रही है।

Back to top button
E-Paper