मानसून की आपदा के बीच हिली हिमाचल की धरती, चंबा में भूकंप के झटके

शिमला (हि.स.)। हिमाचल प्रदेश में मानसूनी आपदा के बीच चम्बा जिले में रविवार सुबह भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 2.8 मापी गई।

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के मुताबिक भूकंप के झटके सुबह 10 बजकर 2 मिनट पर महसूस किए गए। इसका केंद्र जमीन से छह किलोमीटर गहराई में था। राज्य आपदा प्रबन्धन प्राधिकारी के प्रवक्ता ने बताया कि भूकंप के झटके कम तीव्रता के थे और इसमें किसी के हताहत और नुकसान की रिपोर्ट नहीं है।

उल्लेखनीय है कि हिमाचल प्रदेश भूकंप की दृष्टि से संवेदनशील जोन चार व पांच में आता है। वर्ष 1905 को हिमाचल में 7.8 तीव्रता वाला बड़ा भूकंप आ चुका है,जिसमें भारी नुकसान हुआ था। इस दौरान 10 हज़ार लोग मारे गए थे। पिछले कई वर्षों से चम्बा सहित प्रदेश के अनेक हिस्सों में कई मर्तबा भूकम्प के झटके आ चुके हैं।

दरअसल, हिमाचल प्रदेश में इस वर्ष मानसून ने भारी तबाही मचाई है। बीते दी माह के दौरान मानसून सीजन में वर्षा से जुड़े हादसों में 376 लोगों की जान गई है और 40 लापता हैं। 349 लोग घायल हुए हैं। भूस्खलन व बाढ़ की चपेट में आने से 141 लोग मारे गए हैं। जबकि अन्य वर्षा जनित हादसों में 235 लोगों की मौत हुई। मानसून सीजन में 2445 मकान, 306 दुकानें और 5384 पशुशालाएं पूरी तरह धराशायी हूईं। जबकि 10504 घरों को आंशिक नुकसान पहुंचा। बीते दो महीने में राज्य के 156 स्थानों पर भूस्खलन हुआ और 66 स्थानों पर बाढ़ आया। मानसून सीजन में प्रदेश के सरकारी विभागों को 8604 करोड़ का नुकसान आंका गया है।

Back to top button