दो साल के मासूम बच्चे को पड़ोसियो ने उतारा मौत के घाट, रात में दी बलि…

नई दिल्ली: महाराष्ट्र पुलिस ने 2 साल के बच्चे की हत्या की गुत्थी को सुलझा लिया है। बच्चे का शव बुधवार को ब्रम्हापुरी तहसील में एक घर से मिला था। बच्चा 22 अगस्त को लापता हुआ था। आखिरी बार उसे घर के बाहर खेलते हुए देखा गया था। बच्चे के लापता होने के बाद उसके पिता ने ब्रम्हापुरी पुलिस स्टेशन में गुमशुदा होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

पुलिस ने बच्चे की तस्वीर लगे पोस्टर पूरे जिले में लगाए थे

बच्चे की तलाश में पुलिस ने बच्चे की तस्वीर लगे पोस्टर पूरे जिले में लगाए थे। पुलिस ने बच्चे की तलाश में सर्च ऑपरेशन जारी कर दिया। यहां तक कि पुलिस टीम के अधिकारी बच्चे की तलाश में नागपुर, वर्धा, भंडारा और गडचिरोली तक गए, लेकिन उनके हाथ कोई सुराग नहीं लगा।

वहीं बच्चे के पिता को शक था कि उसके पड़ोसी ने बच्चे को अगवा करवाया है। पिता से मिले इनपुट के आधार पर पुलिस ने पड़ोस में सर्च ऑपरेशन जारी किया। पड़ताल के दौरान पुलिस को बच्चे का शव पड़ोस के एक घर से मिला।

पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने गुनाह किया कबूल

पुलिस पूछताछ में पड़ोसी प्रमोद, सुनील और एक अन्य ने अपना गुनाह कबूल लिया है। उन्होंने बच्चे की हत्या की बात कबूल कर ली है। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक आरोपियों ने बच्चे की हत्या काले जादू के कारण की।

आरोपियों ने बच्चे के शव को नदी में बहाने की योजना बनाई थी, लेकिन डर के मारे वह शव को लेकर बाहर नहीं जा पाए। जिसके बाद उन्होंने बच्चे के शव घास के ढेर में छिपा दिया। चूंकि पुलिस ने गांव में सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया, इसलिए उन्हें शव को ठिकाने लगाने का समय नहीं मिला।

Back to top button
E-Paper