22 साल की महिला ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखी ये बात पुलिस…

पूर्वी दिल्ली : पूर्वी दिल्ली के मंडावली में गुरुवार की शाम 22 वर्षीय एक महिला ने आत्महत्या कर ली। घटनास्थल से पुलिस ने एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है जिसमें चौंकाने वाली बातें लिखी गई है। सुसाइड नोट में लिखा गया है कि उसे अपनी ही बॉडी के कारण शर्मिदगी झेलनी पड़ रही थी। इस कारण उसे कई बार अपमान सहना पड़ता था। पुलिस मामले की तहकीकात कर रही है।

पुलिस के मुताबिक महिला पिछले कुछ सप्ताह से लक्ष्मी नगर स्थित एक निजी कंपनी में काम करती थी। वह मंडावली में अपनी माता और अपने छोटे भाई-बहनों के साथ रहती थी। उसके पिता की कुछ सालों पहले ही मौत हो चुकी है।

गुरुवार शाम को उसके छोटे भाई ने कमरे की सीलिंग फैन से उसे लटकता हुआ देखा। उसने सबसे पहले अपनी मां को इसकी सूचना दी। पड़ोसियों तक जानकारी पहुंचने के बाद उनकी मदद से महिला के शव को नीचे उतारा गया जिसके बाद पुलिस को मामले की सूचना दी गई।

 पुलिस फौरन उसे लेकर पास के अस्पताल में पहुंची जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मामले की जांच कर रहे एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि महिला के कमरे से एक सुसाइड नोट बरामद किया गया है। नोट में एक कविता भी लिखी गई है- ‘शी वाज द बर्ड, विथ नो विंग, शी वांटेड टू फ्लाय बट शी हैड टू डाइ..'(वह एक चिड़िया थी, बिना पंखों वाली। वह उड़ना चाहती थी लेकिन उसे मरना पड़ा।)

सुसाइड नोट की शुरुआत में लिखा गया था-मम्मा आई लव यू। इसके बाद नोट में आगे लिखा गया था कि वह अपनी जिंदगी में जो भी कदम उठाती है वह अपनी खुशी के लिए उठाती है। उसने लिखा कि वह अपनी जिंदगी में बहुत कुछ करना चाहती थी, पाना चाहती थी लेकिन अपनी बॉडी के कारण उसे बहुत शर्मिदगी झेलनी पड़ रही है। उसे ऐसा लगने लगा है कि वह अपनी ही बॉडी के जाल में फंस गई है। वह आगे लिखती है कि भगवान में विश्वास कभी मत खोना, वह दुनिया में हैं।

डीसीपी पंकज कुमार सिंह ने कहा कि बॉडी की अटॉप्सी रिपोर्ट से इस बात का पता नहीं चलता है कि वह किसी बीमारी से ग्रसित थी। उसके परिवार वालों ने भी उसके बारे में किसी तरह की दिमागी समस्या के बारे में जिक्र नहीं किया। डीसीपी ने बताया कि मामले की जांच के लिए उसके दोस्तों और कुलीग्स से पूछताछ की जाएगी।

एक जांचकर्ता ने बताया कि महिला पिछले कुछ दिनों से इंटरनेट पर आत्महत्या के तरीके सर्च करते देखी गई थी। इस पर वरिष्ठ अधिकारियों ने फोरेंसिक जांच विभाग को उसके फोन की जांच करने का आदेश दिया है।

Back to top button
E-Paper