अफ्रीकी खिलाड़ियों ने कैच छोड़ स्टंपिंग के मौके गंवाए, एक ही ओवर में दो जीवनदान

क्रिकेट वर्ल्ड में अच्छी फील्डिंग का जिक्र होने पर सबसे पहले साउथ अफ्रीका का नाम जेहन में आता है। जोंटी रोड्स सहित कई अफ्रीकी खिलाड़ियों ने फील्डिंग के बल पर दुनियाभर में अनिगनत फैन बनाए। हालांकि, भारत के खिलाफ गुरुवार को दिल्ली में हुए पहले टी-20 इंटरनेशनल मैच में बिल्कुल ही उलट नजारा देखने को मिला।

अफ्रीकी खिलाड़ियों ने कैच छोड़े, स्टंपिंग के मौके गंवाए और रन आउट आसान अवसर भी जाया कर दिया। जीवन दान मिलने पर भारतीयों खिलाड़ियों ने 70 रन एक्स्ट्रा जोड़कर स्कोर को 200 रन के पार पहुंचाया। हालांकि, इतना सब होने के बावजूद अफ्रीकी टीम यह मैच जीतने में सफल रही। चलिए जानते हैं कि मैच में कब-कब अफ्रीकी सितारों ने खराब फील्डिंग का प्रदर्शन किया।

1 ओवर में मिला दो जीवन दान

भारतीय पारी के 11वें ओवर में पहले श्रेयस अय्यर का स्टंपिंग चांस छूटा, उसके बाद इसी ओवर में ऋषभ पंत का कैच भी छोड़ा गया। दरअसल 11वें ओवर की तीसरी गेंद ज्यादा टर्न हुई। केशव महाराज की इस गेंद को अय्यर समझ नहीं पाए और बीट हो गए। विकेटकीपर क्विंटन डिकॉक गेंद को ठीक से गैदर नहीं कर पाए और अय्यर को स्टंप आउट करने का आसान मौका गंवा बैठे। उस समय अय्यर 13 रन पर खेल रहे थे। इसके बाद उन्होंने 23 रन और बनाए। डिकॉक ने अय्यर को स्टंप न कर पाने पर केशव महाराज से माफी भी मांगी।

ईशान किशन ने आखिरी गेंद पर स्लॉग स्वीप का किया प्रयास

इसी ओवर की आखिरी गेंद पर ईशान किशन ने स्लॉग स्वीप का प्रयास किया, लेकिन गेंद मिड विकेट पर काफी ऊपर उठ गई। ऐसा लग रहा था कि वे कैच आउट हो जाएंगे। वहां पर तीन फील्डर भी मौजूद थे, पर कोई भी गेंद को सही से जज नहीं कर पाया और आसान सा कैच छूट गया। उस समय ईशान 38 गेंदों का सामना कर 58 रन बना चुके थे। इसके बाद उन्होंने 18 रन और बनाए। बाद में ईशान का विकेट केशव महाराज को ही मिला।

पंत रन आउट होने से बचे

13वें ओवर की पहली गेंद पर साउथ अफ्रीकी टीम ने पंत को रन आउट करने का मौका गंवा दिया। ईशान के आउट होने के बाद चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने खुद पंत आए। स्ट्राइक पर अय्यर थे, जबकि नॉन स्ट्राइक पर पंत खड़े थे। रबाडा ने ऑफ स्टंप की तरफ गेंद की, अय्यर ने इसे मिडविकेट की दिशा में खेल दिया।

वहीं पंत रन के लिए दौड़ पड़े। अय्यर ने उन्हें लौटा दिया। फील्डर ने गेंद नॉन स्ट्राइक की तरफ जब तक फेंकी, पंत क्रीज में पहुंच गए थे। पंत ने 16 गेंदों का सामना कर 29 रन बनाए। उन्होंने 2 चौके और 2 छक्के भी जड़े।

Back to top button