यूपी बोर्ड परीक्षाओ की तारीखों का हुआ ऐलान, यहाँ देखें- पूरा कार्यक्रम

लखनऊ। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित हाईस्कूल और इंटरमीडियेट परीक्षा का कार्यक्रम सोमवार को जारी कर दिया गया।

उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने यहां यूपी बोर्ड परीक्षा 2019 की समय सारिणी जारी की । कार्यक्रम के मुताबिक हाईस्कूल परीक्षा सात फरवरी से शुरू होकर 28 फरवरी तक चलेगी जबकि इंटरमीडिएट की परीक्षा सात फ़रवरी से दो मार्च के बीच सम्पन्न होगी।

समय सारिणी के अनुसार हाईस्कूल और इंटरमीडियेट परीक्षायें दो पालियों में करायी जायेगी। हाईस्कूल के लिये 36 विषय और इंटरमीडियेट के 39 विषयों की परीक्षा सुबह और शाम की पालियों में सम्पन्न करायी जायेगी।

शर्मा ने नकलविहीन परीक्षा के प्रति कटिबद्धता जताते हुये कहा कि इस बार 10वीं में 32 लाख तीन हजार 41 छात्र शामिल होंगे जबकि इंटरमीडियेट परीक्षा के लिये 25 लाख 84 हजार 957 छात्रों ने पंजीकरण कराया है। इस प्रकार दोनो परीक्षाओं के लिये कुल 57 लाख 87 हजार 998 छात्र पंजीकृत हुए हैं।

उन्होंने कहा कि बोर्ड का प्रयास होगा कि 30 अप्रैल तक परीक्षा परिणाम जारी कर दिया जाए। नकलविहीन परीक्षा के लिये हर केन्द्र में सीसीटीवी कैमरा और वाइस रिकार्डर लगाये जायेंगे।

पहली पाली सवेरे सात बजे के स्थान पर सवेरे 8 से 11.15 बजे तक होगी, जबकि दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर 2 से शाम 5.15 बजे तक होगी। दोनों परीक्षाओं के परिणाम एक साथ 30 अप्रैल को घोषित किए जाएंगे। अंकतालिका व अन्य प्रमाण पत्र निर्धारित शुल्क पर ऑनलाइन दिए जाएंगे। हाई स्कूल व इंटर की परीक्षा में कुल 57,87,998 विद्यार्थी पंजीकृत हैं।

उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने सोमवार को लखनऊ में आयोजित प्रेसवार्ता में इन परीक्षाओं की तिथियों का एलान किया। उन्होंने बताया कि हाई स्कूल बोर्ड परीक्षा के लिए 17,61,638 छात्र व 14,41,403 छात्राओं समेत कुल 32,03,041 विद्यार्थियों ने पंजीकरण कराया है।

इसी तरह इंटर में 13,97,079 छात्र व 11,87,878 छात्राओं सहित कुल 25,84,957 विद्यार्थियों ने पंजीकरण कराया है। परीक्षार्थियों व उनके अभिभावकों और स्कूल प्रबंधन की सुविधा के मद्देनजर सार्वजनिक अवकाश और प्रयाग कुंभ के मुख्य स्नान के दिन परीक्षा नहीं होगी।

इंटर में 39 व हाई स्कूल में 36 विषयों की परीक्षा में एक-एक प्रश्नपत्र

प्रेसवार्ता में उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा।

डॉ. शर्मा ने बताया कि इंटरमीडिएट के 39 विषयों की परीक्षा एक-एक प्रश्न पत्र में होगी। इसके अलावा कृषि भाग-1 व भाग- 2 और 18 भाषाओं के विषयों में परीक्षार्थियों की कम संख्या के कारण इनकी भी परीक्षा एक प्रश्न पत्र में कराई जाएगी। व्यवसायिक वर्ग के 41 ट्रेड में पहले की तरह परीक्षा कराई जाएगी। वहीं, हाई स्कूल में 36 विषयों की परीक्षा एक-एक प्रश्न पत्र में कराई जाएगी।

नकल पर अंकुश से कम हुई परीक्षार्थियों की संख्या
उप मुख्यमंत्री ने दावा किया कि इस वर्ष परीक्षा के दौरान सख्ती की वजह से बोर्ड परीक्षा 2019 में परीक्षार्थियों की संख्या 8,51,270 कम हुई है। 2018 बोर्ड परीक्षा में कुल 66,39,268 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए थे, जबकि इस बार 57,87,998 विद्यार्थी पंजीकृत हुए हैं। व्यक्तिगत विद्यार्थी भी पिछली बार की तुलना में 89,455 कम हुए हैं। 2018 बोर्ड परीक्षा में 1,81,839 व्यक्तिगत विद्यार्थी थे, जबकि इस बार महज 92,384 व्यक्तिगत विद्यार्थी हैं।

नकल किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे, परीक्षा केंद्रों का ऑनलाइन होगा निर्धारण

डॉ. शर्मा ने कहा कि पिछली सरकारों में नकल के लिए टेंडर किए जाते थे, लेकिन उनकी सरकार ने नकल माफिया पर अंकुश लगा दिया है। वर्ष 2019 में परीक्षा में नकल किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। परीक्षा केंद्रों को निर्धारण ऑनलाइन होगा। ब्लैकलिस्ट स्कूलों को परीक्षा केंद्र नहीं बनाया जाएगा।

परीक्षा केंद्र व कक्ष की क्षमता के अनुसार की परीक्षार्थी आवंटित किए जाएंगे। एक संस्था के एक से अधिक स्कूलों को आपस में परीक्षा केंद्र नहीं बनाया जाएगा। परीक्षा केंद्र में वायस रिकॉर्डर युक्त सीसीटीवी कैमरे लगाएंगे। प्रत्येक परीक्षा केंद्र जीपीएस से लिंक होगा। वहीं, निष्पक्ष मूल्यांकन के लिए उत्तर पुस्तिकाओं पर कोडिंग की जाएगी। परीक्षा केंद्र पर किसी भी प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस व पाठ्यपुस्तकें प्रतिबंधित रहेंगी।

सॉल्वर गैंग पर कसी नकेल, एसटीएफ की लेंगे मदद

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में दूसरे राज्यों के साथ ही नेपाल, बांग्लादेश समेत अन्य देशों से छात्र नकल के जरिए परीक्षा देने आते थे। परीक्षा में नाम उनका होता था, जबकि परीक्षा केंद्र में सॉल्वर परीक्षा देते थे।

वर्ष 2018 में परीक्षा के दौरान सरकार ने सॉल्वर गैंग पर नकेल कसी है। फिलहाल परीक्षार्थियों को आधार से लिंक करने के साथ ही सॉल्वर गैंग से जुड़े विद्यालयों को चिह्नित किया जा रहा है। वहीं, परीक्षा के दौरान नकल रोकने के लिए जरूरत पड़ने पर एसटीएफ व खुफिया एजेंसियों की मदद ली जाएगी।

हाईस्कूल की 14 कार्यदिवसों में व इंटर की 16 कार्यदिवसों में पूरी होगी परीक्षा

हाईस्कूल की परीक्षा 7 से 28 फरवरी (14 कार्यदिवस) तक चलेगी जबकि इंटर की 7 फरवरी से 2 मार्च (16 कार्यदिवस) तक। परीक्षाएं दो पाली में सुबह 8 बजे से 11.15 बजे और 2 बजे से 5.15 बजे तक चलेगी। दोनों परीक्षाओं के रिजल्ट एक ही दिन 30 अप्रैल को घोषित किए जाएंगे। इन परीक्षाओं में करीब 58 लाख छात्र शामिल होंगे। उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने लखनऊ में सोमवार को तारीखों का एलान किया।

पंजीकृत छात्र
हाईस्कूल : 32,03,041
इंटरमीडिएट : 25,84,957

कम हुए परीक्षार्थी
66 लाख से अधिक छात्र पंजीकृत थे बोर्ड परीक्षा में पिछली बार
58 लाख परीक्षार्थी पंजीकृत हैं इस बार

Back to top button
E-Paper