अवैध कब्जे को लेकर प्राधिकरण सख्त, लगेगा गैंग्सटर

सीईओ ने अवैध कब्जों पर दो दिन में मांगी रिपोर्ट

भास्कर समाचार सेवा

ग्रेटर नोएडा। प्राधिकरण ने भू-माफियाओं के खिलाफ जोरदार कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी है। सीईओ ने अपने अधीनस्थों से अवैध कब्जारियों की सूची दो दिन में उपलब्ध कराने को कहा है। प्राधिकरण इन लोगों के खिलाफ गैंग्सटर एक्ट के तहत कार्रवाई कराएगा। साथ ही इनके नाम भूमाफियाओं की सूची में भी शामिल कराएगा। सीईओ ने अवैध कब्जा होने की दशा में संबंधित क्षेत्र के कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाई की भी बात कही है। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ व मेरठ कमिश्नर सुरेन्द्र सिंह ने शुक्रवार को अपने अधीनस्थों के साथ बैठक की, जिसमें ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण एरिया में अवैध अतिक्रमण पर विस्तृत चर्चा की। सीईओ ने बैठक में सभी भू-माफियाओं के खिलाफ जोरदार अभियान चलाने और अतिक्रमण कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। सीईओ ने सभी वर्क सर्किल से उनके एरिया में अवैध कब्जा करने वालों का ब्योरा मांगा। सीईओ ने इस काम के लिए दो दिन का समय दिया है। ब्योरा उपलब्ध कराने के बाद किसी भू-माफिया का नाम सूची से छूटा तो उस एरिया के अधिकारी जिम्मेदार होंगे। सीईओ ने इन सभी भू-माफियाओं के खिलाफ कानून की विभिन्न धाराओं जैसे सरकारी जमीन कब्जा करने और उसे बेचकर अवैध रूप से संपत्ति अर्जित करने आदि धाराओं में एफआईआर दर्ज कराने और नियमानुसार रिकवरी किए जाने के निर्देश दिए। इन पर कार्रवाई के लिए पुलिस, प्रशासन व प्राधिकरण की संयुक्त टीम कार्रवाई की जाएगी। सीईओ ने जमीन कब्जाने वालों को चेतावनी दी है कि प्राधिकरण की जमीन की प्लॉटिंग कर बेचने वालों से ही वसूली की जाएगी। बैठक में एसीईओ दीप चंद्र व अमनदीप डुली, ओएसडी सौम्य श्रीवास्तव, ओएसडी सचिन कुमार सिंह, जीएम प्रोजेक्ट एके अरोड़ा, जीएम नियोजन मीना भार्गव, जीएम संपत्ति आरके देव, डीजीएम सीके त्रिपाठी, ओएसडी संतोष कुमार सिंह, आदि मौजूद रहे।

Back to top button