सिर्फ “मस्ती” के लिए फूक दिए सात मकान, ऐसे हुआ गिरफ्तार

बर्धमान : बर्धमान के एक आदमी को स्थानीय घरों में आग लगाने के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पूछताछ के दौरान आरोपी अरिंदम भट्टाचार्य ने अपना अपराध कबूल कर लिया है। लेकिन इन सबके बीच अरिंदम ने घरों में आग लगाने की जो वजह बताई है, वह हैरान करने वाली है। अरिंदम ने ‘थोड़ी सी मस्ती’ करने के लिए घरों में आग लगा दी।

अरिंदम पेशे से किसान है और वह गिरफ्तार होने से पहले सात घरों को आग के हवाले कर चुका है। इतना ही नहीं, हर घटना के बाद पानी लेकर भी वह सबसे पहले पहुंचता था। एएसपी प्रियबर्ता रॉय ने कहा, ‘हमारे लिए यह सब काफी हैरान करने वाला था, आखिर कोई सिर्फ मस्ती करने के लिए यह सब कैसे कर सकता है? लेकिन उसने सबकुछ कबूल कर लिया है।’

मनोचिकित्सक सुजाता दास के मुताबिक,

आमतौर पर बदला लेने की भावना के चलते ऐसा किया जाता है। उन्होंने कहा, ‘हमने ऐसे लोगों को देखा है जिनको खून देखना अच्छा लगता है, हो सकता है कि वैसे ही इसे आग देखना अच्छा लगता हो। हालांकि कोई दूसरी थिअरी भी संभव हो सकती है।’ घटना के बाद सबसे पहले पानी लेकर पहुंचने की बात पर सुजाता ने कहा कि हो सकता है कि वह लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए ऐसा करता हो।

आरोपी अरिंदम ने कहा, ‘

मुझे कोई मानसिक बीमारी नहीं है। पहले जब इस तरह की घटनाएं हुईं तो मुझ पर आरोप लगाया गया, जबकि मैंने वह नहीं किया होता था। हां, मैंने आग लगाई थी।’ आरोपी एक बार अपने खुद के घर में भी आग लगाने की कोशिश कर चुका है।

आपको बता दें कि साहेबगंज के उत्तम डे की गोशाला में 29 अगस्त को आग लगाई गई थी। गांववालों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने अरिंदम को गोशाला के पीछे देखा था। पुलिस ने जब उसे पकड़ा तो उसने अपना अपराध कबूल कर लिया।

Back to top button
E-Paper