बुराड़ी मौत: क्या तंत्र-मंत्र के चक्कर में गयी 11 लोगो की मौत…

इस मामले को क्राइम ब्रॉन्च के हवाले कर दिया गया है. पुलिस ने बुजुर्ग महिला की मौत के मामले में अज्ञात के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है

दिल्ली के बुराड़ी में एक घर में संदिग्ध हालात में 11 शव बरामद होने के मामले में लगभग 24 घंटे बीतने के बाद भी अब तक कोई ठोस खुलासा नहीं हो सका है.

इस मामले को क्राइम ब्रॉन्च के हवाले कर दिया गया है. पुलिस ने बुजुर्ग महिला की मौत के मामले में अज्ञात के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है. हालांकि बाकी की 10 मौतें कैसे हुईं इसे लेकर रहस्य बना हुआ है.

पुलिस को घर की तलाशी में एक रजिस्टर और मिला

जिसके आधार पर इस मामले को अंधविश्वास और तंत्र विद्या से जोड़कर देखा जा रहा है. दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर आलोक कुमार ने कहा कि घर की तलाशी के दौरान कुछ हैंडरिटन (हाथ से लिखे) नोट्स मिले हैं. इनसे लगता है कि पूरा परिवार किसी आध्यात्मिक/धार्मिक कार्यों में शामिल था.

Delhi Burari Deaths

रविवार सुबह बुराड़ी के संत नगर इलाके में एक घर में 11 लोगों के शव मिलने से सनसनी फैल गई थी  

रिश्तेदारों ने मौतों के पीछे किसी ‘धार्मिक एंगल’ को नकारा

इस बीच परिवार के रिश्तेदारों ने अंधविश्वास थ्योरी को नकारते हुए कहा कि ‘वो शिक्षित लोग थे, अंधविश्वासी नहीं.’ उन्होंने पुलिस की इस कहानी को खारिज किया कि हो सकता है यह ‘एक साथ खुदकुशी’ का मामला हो. उन्होंने दावा किया कि इन मौतों में कोई ‘धार्मिक एंगल’ नहीं है.

परिवार के एक रिश्तेदार केतन नागपाल ने कहा कि यह एक समृद्ध परिवार था. उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें मारा गया है. रिश्तेदारों ने इस घटना में साजिश की आशंका जताते हुए जांच की मांग उठाई है.

वहीं मृतकों में शामिल परिवार के दो नाबालिग लड़कों के एक दोस्त ने कहा कि उसने शनिवार रात को दोनों को क्रिकेट खेलते हुए देखा था. उनके दोस्त जतिन ने कहा कि 15-16 साल के यह लड़के स्कूल में नौवीं कक्षा के छात्र थे.

उसने बताया कि, ‘मैंने उन्हें कल (शनिवार) रात उन्हें खेलते हुए देखा था. भवनेश अंकल उन्हें देखकर खुश हो रहे थे. यह विश्वास करना मुश्किल है कि वो अब हमारे बीच नहीं हैं.’

Back to top button
E-Paper