जरूरतमंदों को मास्क बनाकर नि:शुल्क बांट रही डा0 शैलजा दीक्षित

लाकडाउन के दौरान अपने घर में जरूरतमंदों के लिए मास्क तैयार करती परमहंस पीजी कॉलेज कैसरगंज की प्रवक्ता डॉ शैलजा दीक्षित

क़ुतुब अन्सारी
बहराइच l उनका काम है स्नातक स्तर के बच्चों को शिक्षा देना।परमहंस पी0जी0 कॉलेज कैसरगंज में प्रवक्ता है वह। लेकिन जब से देश में कोरोना वायरस के कारण लाॅकडाउन हुआ है। वह कॉलेज में ही स्थित अपने आवास में ही मास्क तैयार करने में जुट गई हैं। डॉ0 दीक्षित जो एनएसएस की कार्यक्रम अधिकारी है बताती हैं कि जब से पूरे देश में करोना का कहर बढा। तो उन्होंने महसूस किया कि कैसरगंज  कस्बे में तो मास्क की बेहद कमी है। अधिकतर लोग बिना मास्क के ही घूम रहे हैं। बाजार में मास्क मिल भी नहीं रहे हैं। ऐसे में उन्होंने संकल्प लिया कि वह गरीबों व जरूरतमंदों के लिए मास्क तैयार करेंगी। उन्होंने घर में ही सिलाई मशीन और सूती कपड़ा मंगवाया। और शुरू कर दिया मास्क बनाना।

उनके इस कार्य में उनकी मदद कर रहे हैं परमहंस पीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ डॉक्टर नीरज वाजपेयी। 20 मार्च से इन्होंने अपने पति की मदद से मास्क बनाने की तैयारी शुरू कर दी। अब वह प्रतिदिन दिन में 4 घंटे घर में रहकर काम करती हैं। और लगभग 40 मास्क तैयार करती हैं। इन्हें वह दूधवाले, अखबार वाले, पुलिसकर्मियों,व महाविद्यालय केकर्मचारियों सहित  जरूरतमंदों को बांट देती हैं। डॉ0 दीक्षित ने बताया कि अब तक वह लगभग 1500 से अधिक मास्क तैयार करके बाँट  चुकी हैं।उन्होंने बताया कि उन्होंने महाविद्यालय में मास्क बैंक भी स्थापित किया है जिसमें एनएसएस के स्वयंसेवक अपने पाकेट मनी से पैसा जमा कर मास्क बनाकर जमा कर रहे है।उन्होंने बताया कि पढ़ाई के दौरान ही उन्होंने सिलाई  कढ़ाई सीखी थी। लेकिन विगत 10 वर्षों से मशीन को हाथ भी नहीं लगाया था ।लेकिन करोना की जंग में छोटा ही सही लेकिन महत्वपूर्ण योगदान देने की कोशिश कर रही हैं। उनके जज्बे को सलाम l

Back to top button
E-Paper