वित्‍त मंत्री ने लॉन्‍च किया इंसटेंट पैन सेवा, आधार से 10 मिनट में बनेगा ई-पैन

नई दिल्‍ली । वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आधार पर आधारित ई-केवाईसी वाले इस्टेंट पैन सेवा की औपचारिक तौर पर लॉन्‍च कर दी है। वित्त मंत्रालय ने गुरुवार को आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ट्वीट करके इसकी जानकारी दी।

वित्‍त मंत्री सीतारमण ने इस सेवा की घोषणा आम बजट 2020-21 में की थी। इसके तहत आधार कार्ड धारकों को ई-केवाईसी की मदद से तुरंत पैन कार्ड जारी किया जाएगा। इस सेवा की शुरुआत हो जाने से अब पैन जारी करने की प्रक्रिया पेपरलेस हो गई है। आवेदनकर्ता को रियल टाइम में ई-पैन मिल जाएगा। बता दें कि ये सेवा फ्री ऑफ कॉस्ट है। हालांकि आधार का मोबाइल नंबर से लिंक होना जरूरी है।

गौरतलब है कि वैसे तो ई-पैन सेवा को वित मंत्री ने अभी लॉन्च किया है, लेकिन बीटा वर्जन का ट्रायल बेसिस पर फरवरी महीने से ही इनकम टैक्स की ई-फाइलिंग वेबसाइट में इस्तेमाल हो रहा है। वित्त मंत्रालय की तरफ से जारी प्रेस नोट के अनुसार अब तक 6.7 लाख टैक्सपेयर्स को ई-पैन जारी किया जा चुका है। ये ई-पैन 10 मिनट में जारी हो रहा है।

ऐसे करें ई-पैन के लिए आवेदन
यदि आप ई-पैन बनवाना चाहते हैं तो पहले आपको आयकर विभाग की ई-फाइलिंग वेबसाइट पर जाना होगा, जहां आपको अपना आधार नंबर डालना है। इसके बाद विभाग की ओर से रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाएगा जिसे सबमिट करना है। इस पूरी प्रक्रिया खत्म होने के बाद 15 अंकों वाला एकनॉलेजमेंट नंबर जेनरेट होगा, जिसके बाद ई-पैन कार्ड डाउनलोड किया जा सकता है।
अबतक 50.52 करोड़ पैन जारी

उल्‍लेखनीय है कि 25 मई को आयकर विभाग की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि अबतक 50.52 करोड़ पैन कार्ड जारी किए जा चुके हैं। इनमें से 49.39 करोड़ इंडिविजुअल आयकरदाता हैं। इनमें से 32.17 करोड़ आयकरदाता का पैन आधार से जुड़ा है। बता दें कि सरकार ने पैन को आधार से लिंक करना जरूरी कर दिया है।

Back to top button
E-Paper