ब्राजील : कई सालो पुराने संग्रहालय में लगी भीषण आग, कई धरोहर और  कलाकृतियां जलकर खाक 

ब्राजील के रियो डी जनेरियो शहर में भयानक आग लगी जिसमें ब्राजील की कई धरोहर और  कलाकृतियां खाक हो गयीं। दरअसल, रियो डी जनेरियो शहर के एक 200 साल पुराने राष्ट्रीय संग्रहालय में आग लगी। जिसमें दुनियाभर से जुटायी गयी अनमोल धरोहर रखी गयी थी जो अब राख में तब्दील हो गयी है। संग्रहालय की स्थापना 1818 में किंग जोआओ (6) ने की थी।

वहीं इस आग की घटना को लेकर ब्राजील के लोगों में काफी गुस्सा है। ब्राजील के लोग सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं और सवाल भी उठा रहे हैं कि आखिर इतने पुराने संग्रहालय जिसमें कई धरोहरों को सहेजा गया था वहां भीषण सरकार की लापरवाही से लगी। संग्रहालय की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर लोगों ने सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। लोगों का कहना है कि सरकार इस संग्रहालय पर ध्यान नहीं दे रही थी। सरकार की लापरवाही से उनकी धरोहर जलकर खाक हो गयी।

बताया जा रहा है कि 200 साल पुराना राष्ट्रीय संग्रहालय पहले एक शाही महल था जिसे संग्रहालय में बदल दिया गया। जिसमें ब्राजील के इतिहास और दुनियाभर की अनमोल धरोहरों को रखा गया था। इन धरोहरों में इजिप्ट की ममी भी शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक आग लगने की वजह साफ नहीं हो पायी है। बताया जा रहा है कि हादसा अंतर्राष्ट्रीय समय के मुताबिक रविवार को रात साढ़े 11 बजे संग्रहालय में आग लगी।

इस भयानक हादसे पर ब्राजील के राष्ट्रपति माइकल टेमर ने ट्वीट किया कि हादसे में हुए नुकसान का अंदाजा लगाना संभव नहीं। क्योंकि इस नेशनल म्यूजियम में कई धरोहर और कलाकृतियां संजोयी गयी थीं। इसमें इज़िप्ट की ममी भी शामिल हैं। राष्ट्रपति ने लिखा कि यह ब्राजील के लिए बेहद दुखद है। सालों की मेहनत बर्बाद हो गयी। बताया जा रहा है कि संग्रहालय के प्राकृतिक इतिहास संग्रह में महत्वपूर्ण डायनासोरों की हड्डियां और लैटिन अमेरिका में पाया गया एक महिला का 12,000 साल पुराना मानव कंकाल रखा गया था।

 

Back to top button
E-Paper