उत्तरकाशी गंगोत्री से आगे पूरी तरह प्रतिबंधित हो मानवीय दखल

दैनिक भास्कर समाचार सेवा

उत्तरकाशी। गंगोत्री ग्लेशियर हिमालय एवं हिमनदियां बचाओ अभियान दल की प्रमुख संयोजिका ग्लेशियर लेडी शांति ठाकुर की अध्यक्षता में सोमवार को ग्लेशियर संरक्षण दिवस मनाया गया। इस अवसर पर ग्लेशियर लेडी ने गंगोत्री से आगे गौमुख, तपोवन आदि स्थानों सहित समस्त हिमालयी क्षेत्रों पर मानवीय आवाजाही पर पूर्णतः प्रतिबंध लगाने के संबंध में जिलाधिकारी के माध्यम से प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंपा। उन्होंने कहा कि हिमालयी पर्वत श्रृंखलाएं देश को जीवित रखने वाली धार्मिक व आर्थिक नदियों का आधार हैं।

ग्लेशियर लेडी की अध्यक्षता में मनाया ग्लेशियर संरक्षण दिवस

इनका अस्तित्व मिटने की कगार पर है। इनको बचाने एवं संरक्षित करने के लिए यदि समय रहते ठोस कदम नहीं उठाएंगे तो वह दिन दूर नहीं, जब न ही हिमालय का अस्तित्व रहेगा और न ही इन हिमनदियों का। हमारी नई पीढ़ी को हिमनदियों व ग्लेशियरों के विषय में ज्ञान ही नहीं है। उनको यह अहसास ही नहीं है कि इन ग्लेशियरों के अस्तित्व से ही नदियों का और हमारे जीवन का अस्तित्व है।

हमारे दल द्वारा विगत 15 वर्षों से 13 जून को ग्लेशियर संरक्षण दिवस मनाया जाता आ रहा है। साथ ही लगातार राज्य व केंद्र सरकार से भी निवेदन किया जाता रहा है कि 13 जून को राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर ग्लेशियर संरक्षण दिवस मनाया जाए।

Back to top button