बांके मे बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए भारत नेपाल सीमा पर आवागमन में सख्ती

रुपईडीहा/बहराइच। कोरोना का प्रकोप पड़ोसी शहर बांके में भी व्यापक पैमाने पर दिखने लगा है।इसी को लेकर नवागंतुक सी डी ओ शिव राम गेलाल ने बृहस्पतिवार को कोविड आपदा प्रबंधन समिति की एक बैठक कर नगर के स्कूल, सिनेमाघर, स्विमिंग पूल, पब आदि अगले आदेश तक बंद कर दिए हैं।सी डी ओ ने स्थानीय नागरिकों से कोरोना से सतर्क रहने अति आवश्यक कार्य न होने पर घरों से न निकलने व रुपईडीहा बाजार में खरीदारी के लिये न जाने की अपील की है।इसके साथ ही उन्होंने शहर के विभिन्न स्थानों पर पहुंच कर लोगों से मास्क को अनिवार्य रूप से लगाने की भी सलाह दी।इस दौरान जो लोग बिना मास्क के घूमते नज़र आये उन्हें या तो मास्क खरीद कर दिया गया या फिर मुंह ढकने के लिये रूमाल का प्रयोग करने की सलाह दी गई।

आपको बताते चलें कि पिछले कुछ दिनों में नेपालगंज में कोरोना के केसों में अचानक बेतहाशा वृद्धि हुई है।शुक्रवार को भेरी अस्पताल द्वारा जारी तथ्यांक के अनुसार 121 लोगो मे कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हुई है।इस दौरान एक सप्ताह में 3 लोगो की मौत कोरोना के कारण हो चुकी है।केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग की ओर से नेपाल के जिन 14 जिलों को संवेदनशील घोषित किया गया है।उनमें बाँके का भी नाम शामिल है।नेपालगंज के सांसद व पूर्व मंत्री इश्तियाक राई ने दो वेंटिलेटर उपलब्ध कराया है।जिसके लिए बांके के सी डी ओ सहित भेरी अस्पताल प्रशासन ने उनकी इस कार्य की सराहना की है।

Back to top button
E-Paper