कानपुर : जामुन के पेड़ पर युवक ने फांसी लगा दी जान

घाटमपुर। कोतवाली क्षेत्र के तरगाव गांव के किनारें स्थित जामुन के पेड़ पर एक युवक का शव प्लास्टिक की रस्सी के सहारे फांसी पर लटकते मिला है। सुबह ग्रामीणों ने शव को पेड़ के सहारे लटकते देखा तो हड़कंप मच गया। ग्रामीणों ने परिजनों को सूचना देने के साथ पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने घटना की जानकारी जुटाने के साथ शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

घाटमपुर थाना अंतर्गत नंदना चौकी क्षेत्र के तरगाव गांव निवासी कृपाशंकर का 28 वर्षीय बेटा गणेश शंकर अविवाहित था। मजदूरी कर अपना जीवन यापन करता था। बीती देर शाम उसको पिता कृपाशंकर ने शराब पीते देख लिया था, जिसपर उसे फटकार लगाई थी। जिसके बाद गणेश खेतों की ओर चला गया था। रविवार सुबह ग्रामीणों ने गांव के किनारें स्थित खेतों में लगे जामुन के पेड़ पर प्लास्टिक की रस्सी के सहारे फांसी पर युवक का शव लटकते देखा तो परिजनों के साथ पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची नंदना चौकी पुलिस ने घटना की जानकारी जुटाई है। हालांकि युवक के फांसी लगाने का कारण स्पष्ट नही हो सका है। मामले में नंदना चौकी इंचार्ज मो आरिफ ने बताया कि जानकारी मिली थी युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

एक साल से अपने परिवार से अलग रह रहा था युवक

पतारा ब्लॉक के तरगाव गांव निवासी कृपाशंकर ने बताया कि उनका बेटा गणेश शंकर लगभग एक साल से गांव में ही बने दूसरे मकान में रहता था। खुद खाना बनाता खाता था। बताया कि उन्होंने कई बार उसे चोरी छुपे शराब पीते देखा था तो फटकार लगाई थो, जिंसके चलते वो अपने पिता से लड़ भी जाता था। बताया कि घटना जानकारी मिलते ही परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

फोन पर बातकर बोला अब जिंदगी जीने का मन नही

ग्रामीणों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि तरगाव गांव निवासी 28 वर्षीय गणेश शंकर का एक युवती के साथ काफी दिनों से प्रेम प्रसंग चल रहा था। जिससे वह अक्सर बात किया करता था। शनिवार शाम पिता ने शराब पीते देखकर युवक को फटकार लगाई तो युवक वहा से खेतों की ओर निकल गया। इस दौरान युवक फोनकर किसी से बात कर रहा था। युवक उससे कहा रहा था। कि अब मेरा जिंदगी से मन भर गया है। अब वह और जीना नही चाहता। जिंसके बाद वह रोते हुए खेत की ओर निकल गया। मामले में नंदना चौकी इंचार्ज मो आरिफ ने बताया कि उन्हें युवक के पास से कोई मोबाइल फोन नही बरामद हुआ है। मामले की जांच की जा रही है।

Back to top button