सनकी हत्यारे ने महिला टीचर का गला रेत कर की हत्या, हाथों में सिर लेकर घूमता रहा युवक

झारखंड के सरायकेला-खरसावां जिले में मंगलवार को एक विक्षिप्त व्यक्ति ने एक शिक्षिका का सिर काट दिया. इसके बाद वह कटे सिर को लेकर गलियों में घूमने लगा. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुकुरू हेरेसा (35) खापसराय स्थित प्राथमिक विद्यालय में शिक्षिका थीं. वह जब भी स्कूल आती, तो हरी हेमब्रोम (45) उन्हें घूरा करता था.

सरायकेला:  झारखंड के सरायकेला-खरसावां जिले में किराए का घर छोड़ने से नाराज सरफिरे हरि हेंब्रम ने शिक्षिका की गर्दन काटकर हत्या कर दी. दिल दहलाने देने वाली वारदात सरायकेला के कीता गांव में मंगलवार को हुई. पहले अपने घर में किराएदार के रूप में रह रही शिक्षका को केरोसिन डालकर जला देने की कोशिश की थी. जानकारी के मुताबिक तीन जुलाई को दिन के करीब 12 बजे शिक्षिका सुकरू हेस्सा (48) प्राथमिक स्कूल खप्परसाही में पढ़ा रही थी. अचानक सिरफिरा हरि हेंब्रम स्कूल पहुंचा और शिक्षिका को घसीटते हुए बहार ले गया और पास ही स्थित अपने घर के आंगन के सामने काट डाला. वारदात को अंजाम देने के बाद शिक्षका का कटा सिर और दोनों हाथों में तलवार लेकर काली मंदिर पहुंचा. घटना की जानकारी मिलते ही इलाके में सनसनी फैल गई. खबर पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंची और सरफिरे को दबोचने की कोशिश की, लेकिन तलवार लहराने की वजह से पुलिसकर्मी व ग्रामीण उसे पकड़ पाने में नाकाम रहे. काफी मशक्कत के बाद शाम करीब चार बजे गांववालों की मदद से पुलिस आरोपी सरफिरे को दबोचने में कामयाब हुई. पुलिस ने आरोपी को पकड़ कर पहले सरायकेला सदर अस्पताल लाया जहां से प्राथमिक उपचार के बाद थाना ले आयी.

मारने के लिए दौड़ने लगा

ग्राम शिक्षा समिति की अध्यक्ष डुबी बारला ने बताया कि मंगलवार की दोपहर करीब 12 बजे वह स्कूल के बगल में ही कुछ काम कर रहा था. अचानक शिक्षिका के चिल्लाने की आवाज सुनकर वह दौड़कर स्कूल के पास पहुंचा. उसने देखा कि आरोपी शिक्षिका पर तलवार से वार कर रहा है. डुबी ने सरफिरे को ऐसा करने से रोकने की कोशिश की तो वह उसे ही मारने के लिए दौड़ाने लगा.

शिक्षकों ने किया रोड जाम

सहायक शिक्षिका सुकरी हेस्सा की हत्या के विरोध में शिक्षकों ने बुधवार दोपहर डेढ़ बजे से शाम पांच बजे तक सरायकेला-खरसावां मुय मार्ग को स्कूल के समीप ही जाम कर दिया. पुलिस या प्रशासन द्वारा शव को नहीं उठाये जाने से नाराज शिक्षकों ने कहा कि शिक्षिका की हत्या के बाद शव पांच घंटे तक पड़ा रहना दुखद है. प्रशासन ये बताए कि क्या किसी नेता का हत्या होने के बाद भी इसी तरह शव सड़क पर पड़ी रहती. खपरसाई से तीन किमी दूर कीता में जब सिरफिरा पुलिस को चकमा देकर भागने में सफल हो गया तो शिक्षक आक्रोशित हो गए. शिक्षकों ने पुलिस प्रशासन हाय हाय,एसडीपीओ हाय हाय,एसपी हाय हाय का नारा लगाया.

सरजामदा की रहनेवाली थी शिक्षिका

मृत शिक्षिका जमशेदपुर के सरजामदा की रहनेवाली थी. वह सुकरी हेस्सा में सहायक शिक्षिका थी. वह वर्ष 2016 से ही खप्परसाही में पदस्थापित थी. स्कूल सरायकेला-खरसावां मेन रोड के किनारे है और जिला मुयालय से करीब आठ किमी दूर है.

सामूहिक अवकाश आज

शिक्षिका की हत्या के विरोध में बुधवार को जिले के सभी शिक्षक शिक्षिकाएं सामूहिक अवकाश पर रहेंगे. सामूहिक अवकाश पर रहने को लेकर शिक्षकों ने बुधवार को सभी स्कूलों को बंद रखने की मांग की.

Back to top button
E-Paper